पंडिताइन के स्मैक कारोबार का ‘द इंड’: गोरखपुर पुलिस ने 13.5 करोड़ की प्रापर्टी की जब्त, लेडी डॉन की हिस्ट्रीशीट भी खोली

*गोरखपुर*

 

गोरखपुर में लंबे समय से नशे के कारोबार में शामिल किशन कुमारी उर्फ पंडिताइन के स्मैक के काले कारोबार का पुलिस ने ‘द इंड’ कर दिया है। शाहपुर इलाके में स्थित किशन कुमारी पंडिताइन की करीब 13 करोड़ की संपत्ति को पुलिस ने कुर्क कर दिया। गैंगेस्टर एक्ट के तहत अपराध से अर्जित संपत्ति पर पुलिस ने कार्रवाई की है। पुलिस के मुताबिक, पंडिताइन ने ही गोरखपुर में स्मैक के कारोबार की शुरुआत की थी।

पंडिताइन पर दर्ज हैं 10 मुकदमें
राजघाट थाने की हिस्ट्रीशीटर नंबर 86 ए पर किशुन कुमारी उर्फ पंडिताइन का नाम दर्ज है। राजघाट के चकरा अव्वल निवासी किशुन कुमारी अब शाहपुर में रहती है। पति हरिनाथ पांडेय की मौत के बाद से इसने ही गोरखपुर में स्मैक के धंधे की शुरुआत की थी। नशे के इस कारोबार में उसकी बेटी मधु के अलावा अन्य बेटियां और दामाद भी शामिल हैं।

बेटिया और दामाद भी स्मैक कारोबार में शामिल
यह सभी खरैया पोखरा थाना शाहपुर में रहकर शहर भर में स्मैक का कारोबार कराते हैं। राजघाट थाने से गैंगस्टर की कार्रवाई भी इस पर हो चुकी है। पंडिताइन पर राजघाट के अलावा कोतवाली और शाहपुर थाने में भी केस दर्ज है। अब तक 10 मुकदमे इस पर दर्ज हो चुके हैं।

बेटियों और दो दामाद के नाम बनवाया था मकान
एसपी सिटी कृष्ण कुमार विश्नोई ने बताया, पंडिताइन ने अपनी बेटियां मधु और एक अन्य के पति राजू गुप्ता और संजय गुप्ता के नाम से भेड़ियागढ़ थाना शाहपुर में पक्का मकान बनवा रखा था। करीब 13.5 करोड़ रुपयों की लागत से बने इस मकान को स्मैक के काले कारोबार से अर्जित किए गए रुपयों से बनवाया गया था। जिसे डीएम गोरखपुर के आदेश पर कुर्क कर दिया गया।

दीवान की सह पर शुरू किया था धंधा
वहीं, यह गोरखपुर की यह लेडी डॉन साल 2015 में 26 लाख के स्मैक के साथ जब पकड़ी गई थी, तो यह बात भी समाने आई थी कि एक दीवान की सह पर उसका पूरा धंधा चलता है। पुलिस से सांठगांठ कर उसने हिस्ट्रीशीट बंद भी करा ली थी, लेकिन फिर 31 अगस्त 2022 को उसकी हिस्ट्रीशीट खोल दी गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *