जानवर पकड़ना मेरा काम नहीं- कंट्रोल रूम

अवारा पशुओ को लेकर सीडीओ द्वारा स्थापित कंट्रोल रूम संग्रामपुर की मनमानी

जिला संवाददाता- प्रेम कुमार शुक्ला, अमेठी  

अमेठी| जिले में अवारा पशुओं से किसानो को राहत देने के लिए जगह जगह कंट्राेल रूम बनाये गये है लकिन विकास खंड  संग्रामपुर मे स्थापित कंट्रोल रूम की मनमानी से किसान परेशान है| किसानो का कहना है कि यहा शिकायत करने का कोई मतलब नहीं है अगर आप कई बार शिकायत करेंगी तो जवाब मिलता है आवारा पशु पकड़ना हमारा काम नहीं है जिसको बताना चाहिए हमने बता दिया है हमारी कोई जिम्मेदारी नहीं है| अमेठी की मुख्य विकास अधिकारी  डॉ अंकुर लाठर ने ट्विटर के जरिए जिले जिले को यह जानकारी दी कि जगह-जगह कंट्रोल रूम बनाए गए हैं अवारा पशुओं से संबंधित शिकायतें वहा दर्ज कराई जाए उसका समाधान किया जाएगा

किसान कहते है कि  कंट्रोल रूम में बैठे लोग किसानों की  सुनने को तैयार नहीं है विकासखंड संग्रामपुर के मिसिरपुर गांव के किसानों ने कंट्रोल रूम के जिले से लेकर संग्रामपुर के नंबरों पर पिछले15 दिनों में तीन बार शिकायत दर्ज कराई लेकिन समस्या का कोई समाधान नहीं है उलटे जवाब में कंट्रोल रूम संग्रामपुर के लोगों ने कहा  अवारा पशु पकड़ना मेरा काम नहीं है हमने सचिव को बता दिया है वह जाने …आखिर सवाल उठता है कि अगर व्यवस्था नहीं है तो ऐसे कंट्रोल रूम दिखावा के लिए क्यो स्थापित होते हैं इससे प्रशासन के साथ ही सरकार की किरकिरी होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.