औरंगाबाद में खाद के लिए हंगामा, भगदड़, पेज 3 लीड

औरंगाबाद में खाद के लिए हंगामा, भगदड़, पेज 3 लीड

ब्यूरो रिपोर्ट- सुनील विष्णु चिलप, महाराष्ट्र
जिले भर में खाद की किल्लत बनी हुई है और कृषि विभाग के अधिकारी सोए हुए हैं। किसान केन्द्रों पर जाकर हंगामा कर रहे हैं। इस बीच खाद की कालाबाजारी करने की भी शिकायतें आ रही हैं। गोह में खाद की निरंतर कमी रहने से किसान काफी परेशान हैं। जैसे ही सूचना मिली कि गुरुवार से इफको बाजार में खाद मिलेगी, किसानों की काफी भीड़ जमा हो गई। गुरुवार को अहले सुबह से लोग कतार में लगाना शुरू कर दिये थे। काफी देर तक लोग आपस मे धक्का- मुक्की करते रहे। बाजार के प्रबंधक ने इसकी सूचना गोह थाने की दी। सूचना मिलते ही थानाध्यक्ष शमीम अहमद समेत कई पुलिस पदधिकारी व भारी संख्या में पुलिस दल बल के साथ पहुंची और हंगामा को शांत कराया। पुलिस प्रशासन ने किसानों को कतार में लगाया तब जाकर किसानों को खाद खरीदने में सहूलियत हुई। पदाधिकारियों ने किसानों से शांतिपूर्ण तरीके से खाद लेने की अपील की। मनोज पासवान, मुकेश राम, रीता देवी, मंजू देवी, सरिता देवी, दिनेश सिंह, राकेश कुमार, नागेंद्र कुमार, संजय कुमार, राधे सिंह, प्रभु राम, महेंद्र पासवान, नरेश कुमार ने बताया कि वे सुबह से ही कतार में लगे रहे पर शाम होने तक भी खाद नहीं मिल सकी। इस संदर्भ में इफको बाजार के प्रबंधक सुधीर कुमार ने बताया कि किसानों को सब्र रखने की जरूरत है। नियमानुसार सभी किसानों को मानक अनुकूल खाद दी जाएगी। हंगामा करने से विभागीय कार्य बाधित होता है जिससे खाद वितरण प्रभावित होता है। एक तरफ वर्षा नहीं होने से किसान काफी परेशान हैं और कुछ किसान किसी तरह मोटर पम्पिंग सेट से धान रोप चुके हैं तो खाद नहीं मिलने से उनकी परेशानी काफी बढ़ गई है।

12 घंटा लाइन में खड़े रहने के बाद मिल रही खाद
खाद के लिए हुआ हंगामा

 


रफीगंज। शिवगंज पथ के डाकबंगला के पास ईफको केन्द्र पर 12 घंटा लाईन में खड़े रहने के बाद खाद मिल रही है। बेरी गांव के संजय कुमार, खैरा के सत्येन्द्र कुमार सहित कई लोगों ने बताया कि सुबह पांच बजे यूरिया खाद के लिए लाईन में लगे रहे और शाम छह बजे खाद मिली। कतार लगाने में कुछ लोगों द्वारा आगे पीछे करने पर मारपीट भी हुयी। हंगामा की जानकारी मिलने पर रफीगंज पुलिस पहुंची और पूरे दिन मुस्तैद रही। सैकड़ों की संख्या में किसान सारा काम छोड़कर लाईन में लगे रहे। अभी भी खाद की घोर किल्लत है। कई किसानों ने आरोप लगाया कि जिनकी पैरवी है, उन्हें आसानी से खाद मिल जा रही है। हर साल की तरह इस बार भी खाद के लिए मारामारी हो रही है।

ओबरा में विभिन्न दुकानों पर उपलब्ध कराई गई खाद
ओबरा। ओबरा प्रखंड के विभिन्न फर्टिलाइजर दुकानों पर यूरिया खाद उपलब्ध कराई गई है। गुरुवार को केंद्रों के माध्यम से इसका वितरण किसानों के बीच हुआ। वितरण के दौरान निगरानी समिति के अध्यक्ष सीओ अमित कुमार एवं बीएओ पुनीत कुमार ने खाद का वितरण कराया है। बीएओ ने बताया कि सभी केंद्रों पर पुलिस प्रशासन की मौजूदगी में किसान सलाहकारों के माध्यम से किसानों के बीच यूरिया खाद का वितरण कराया गया है। प्रखंड क्षेत्र के व्यापार मंडल में 23 सौ बैग, ओबरा के एसएस दुकान पर दो सौ बैग, सुनहुली पैक्स दो सौ, दुर्गा खाद भंडार दो सौ, सुंदर ऐसेस दो सौ, आदर्श दो सौ, मां अंबे दो सौ, चंदा पैक्स दो सौ, कंचनपुर पैक्स दो सौ, सरसोली पैक्स दो सौ, अरंडा दो सौ, खाद भंडार ओबरा सौ बैग, किसान खाद भंडार ओबरा छह सौ बैग, सुंदरम सौ बैग, पार्वती इंटरप्राइजेज अरंडा 301 बैग, मां दुर्गा खाद भंडार ओबरा 250 बैग, कृषि केंद्र अरंडा 201 बैग, पीयूष फर्टिलाइजर का उज्जवल खाद भंडार डेढ़ सौ बैग, श्री राम फर्टिलाइजर सदीपुर 80 बैग, ब्रांडेड बैग ग्राहक कृषि केंद्र शंकरपुर 201 बैग, मां काली भंडार ओबरा 201 बैग यूरिया खाद उपलब्ध कराई गई है। कुल 7080 बैग खाद वितरित कराई जा रही है। प्रखंड क्षेत्र के विभिन्न क्षेत्रों में यूरिया खाद के वितरण के दौरान सीओ एवं बीएओ ने निगरानी करते हुए सभी दुकानदारों को सरकार के द्वारा तय किए गए दामों पर खाद वितरण करने का निर्देश दिया गया है। कहा कि अगर कहीं से भी शिकायत मिलती है तो दुकान को सील किया जाएगा। कहा कि प्रखंड क्षेत्र में खाद की किल्लत नहीं है।

अव्यवस्था एवं हंगामे के बीच किया गया खाद का वितरण
दाउदनगर के बाजार समिति परिसर स्थित बिस्कोमान में खाद का वितरण गुरुवार को अव्यवस्था एवं हंगामे के बीच आरंभ हुआ। प्राप्त जानकारी के अनुसार बिस्कोमान दाउदनगर को 23 सौ बोरी यूरिया खाद का आवंटन हुआ है जिसका वितरण गुरुवार से शुरू कराया गया। पहले दिन नौ सौ बोरी खाद का वितरण किया गया। किसानों की भीड़ सुबह से ही इतनी बढ़ गई कि बीच-बीच में हल्ला- हंगामा का दौर भी देखने को मिला। कृषि विभाग की ओर से कृषि समन्वयक डॉ संजय कुमार खाद वितरण कराने के लिए मौजूद थे। दाउदनगर थाना की पुलिस बल भी तैनात थी लेकिन अनियंत्रित भीड़ किसी का कुछ सुनने को तैयार नहीं थी। बिस्कोमान मैनेजर अनुज कुमार मिश्रा द्वारा रसीद देखकर जमीन के रकबा के अनुसार न्यूनतम एक बोरा से लेकर अधिकतम पांच बोरा खाद का वितरण किया जा रहा था। लाइन में लगे किसान कुछ सुनने को तैयार नहीं थे और इसके कारण हंगामे कर दौर शुरू हो जा रहा था। किसान स्थानीय स्तर पर खाद की कालाबाजारी करने का आरोप लगा रहे थे। भीड़ को संभालने के लिए पुलिस बल भी तैनात थी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *