ठेका पार्किंग का, चल रहा अवैध बस स्टैंड, एडीजी कमिश्नर से की शिकायतकर्ताओं ने शिकायत एडीजी व कमिश्नर ने सख्त कार्रवाई का दिया निर्देश

ठेका पार्किंग का, चल रहा अवैध बस स्टैंड, एडीजी कमिश्नर से की शिकायतकर्ताओं ने शिकायत एडीजी व कमिश्नर ने सख्त कार्रवाई का दिया निर्देश

गोरखपुर। एक तरह सीएम योगी आदित्यनाथ अवैध स्टैंड और वसूली रोकने के लिए लगातार अधिकारियों को निर्देशित कर रहे हैं वहीं दूसरी ओर गोरखपुर में पार्कि ंग का ठेका लेकर वहां अवैध स्टैंड बना दिया गया है। जहां बसों का नंबर लगाने के नाम पर 300 रूपये वसूली हो रही है। यह हाल तब है जब रविवार को हुए वीसी में सीएम ने अधिकारियों को इस पर लगाम लगाने को कहा है। वहीं इस मामले में एडीजी जोन को तीन से चार शिकायतें आ चुकी है। जिसके बाद उन्होंने एसएसपी और एसपी ट्रैफिक को इसे तत्काल बंद कराने और वूसली करने वाले ठेकेदारों पर केस दर्ज कर पकडऩे का निर्देश दिया है।
एडीजी को मिली शिकायत के अनुसार जैतपुर तिहरे हत्याकांड के एक अभियुक्त बालमुकुंद के गुर्गे प्रदीप सिंह के पास यूनिवर्सिटी पार्किंग का ठेका है। जहां कोई भी अपनी गाड़ी खड़ी कर शहर में जा सकता है। लेकिन वहां धड़ल्ले से प्राइवेट बसों का संचालन शुरू हो गया है। बकायदा बसों का नंबर लगाया जाता है और एक बस के नंबर लगाने के लिए 300-300 रूपये वसूलते हैं। रूपये न देने पर धमकी और मारपीट की जाती है। सूत्रों के अनुसार इससे लाखों की वसूली हो रही है। एक शिकायतकर्ता ने प्रदीप सिंह पर मारपीट और बस के कर्मचारियों को धमकी देने का आरोप लगाया है। जिसके बाद एडीजी ने कार्रवाई का सख्त निर्देश देते हुए कहा है कि जांच कर दोनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया जाय और अरेस्ट किया जाए। साथ ही जरूरत हो तो गैंगेस्टर की भी कार्रवाई की जाए। कुछ शिकायतकर्ता मंडलायुक्त रवि कुमार एनजी के पास पहुंच कर बताया कि 40 के स्थान पर 3 से 400 तक वसूला जा रहा है जो गाड़ियां पार्किग के अंदर नहीं पहुंच रही हैं उन गाड़ियों का भी वसूली किया जा रहा है मंडलायुक्त ने एडीएम सिटी को तत्काल निर्देशित किया कि औचक निरीक्षण कर बाहर खड़ी बसों का तत्काल चालान किया जाए और बस संचालक के ऊपर कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए जिससे भविष्य में निर्धारित से अधिक किसी भी बस चालक से वसूली ना किया जा सके वहीं अवैध बस स्टैंड का संचालन व वसूली हर हाल में बंद कराया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *