जनपद में डिमेंशिया एवं अल्जाइमर्स के मरीजों का हुआ परीक्षण

अमेठी।  विश्व अल्जाइमर दिवस के अवसर पर जनपद के संयुक्त जिला चिकित्सालय गौरीगंज में मनोरोग चिकित्सक डॉ बी बी सिंह द्वारा ओपीडी में आए 63 मरीजों का परीक्षण किया। जिसमें 23 वृद्धावस्था के लोग आए थे जिसमें 11 लोगों में डिमेंशिया एवं अल्जाइमर्स के लक्षण पाए गए, जनपद के अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी एवं नोडल अधिकारी डॉ संजय कुमार द्वारा जनपद में समाज कल्याण विभाग द्वारा संचालित वृद्ध आश्रम में जाकर वृद्धों को जागरूक करते हुए फल वितरण का कार्य किया। उन्होंने बताया कि अल्जाइमर बीमारी का मरीज साधारण शब्द या असामान्य समानार्थक शब्द भूलने लगता है और उसकी बोली या लिखावट अस्पष्ट होती जाती है। उदाहरण के लिए वह टूथब्रश भूल जाता है और अपने मुँह के लिए वह चीज माँगता है। अपने पड़ोस में भी खो जाता है। वह यह भूल जाता है कि वह कहाँ है, वहाँ वह कैसे आया और घर वापस कैसे जाना है। अल्जाइमर का मरीज अनाप-शनाप कपड़े पहन सकता है, गरमी में बहुत से कपड़े या ठंड में काफी कम कपड़े। उसके निर्णय लेने की क्षमता कम होती है। वह अंजान लोगों को बहुत सारे पैसे दे सकता है। मरीज कठिन मानसिक कार्यों में असामान्य कठिनाई महसूस करने लगता है, जैसे वह यह नहीं समझ पाता कि कोई संख्या क्यों है और उनका उपयोग कैसे किया जाता है। इस मौके पर मॉनिटरिंग इवैल्यूएशन ऑफिसर श्री राज एवं डाटा एंट्री ऑपरेटर अरुण कुमार सहित संस्था के सहयोगी संजय राजेश अपनी टीम के साथ उपस्थित रहे। इसके अलावा जामो सीएससी पर एजुकेटेड कार्यकारी जिला नोडल अधिकारी डॉ प्रणव गौतम के द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जामो पर जागरूकता एवं ओपीडी में आए 107 मरीजों का परीक्षण किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *