जनपद में अभी तक 5000 लोगों ने आयुष्मान कार्ड योजना का उठाया लाभ।

ब्यूरो रिपोर्ट-प्रेम कुमार शुक्ल, अमेठी

अमेठी| जनपद में आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना एवं मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना से आच्छादित आयुष्मान कार्ड विहीन परिवारों को आयुष्मान कार्ड उपलब्ध कराने हेतु 26 जुलाई से 9 अगस्त 2021 तक विशेष अभियान चलाए जाने का निर्देश प्राप्त हुआ है, उक्त जानकारी जनपद के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ आशुतोष कुमार दुबे ने दी, उन्होंने बताया कि आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना एवं मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना से आच्छादित परिवारों को प्रति वर्ष प्रति परिवार रुपया 5 लाख तक के निशुल्क उपचार की सुविधा अनुमन्य है, योजना का लाभ प्राप्त करने हेतु पात्र व्यक्ति के पास आयुष्मान कार्ड होना आवश्यक है, उन्होने बताया कि जनपद में आज भी बहुत सारे परिवार इस योजना से वंचित है इन्हीं विहीन परिवारों को लक्षित करने हेतु 26 जुलाई से 9 अगस्त तक विशेष अभियान आयुष्मान पखवाड़ा चलाया जाएगा, जिसमें लक्षित परिवारों को योजना के प्रति जागरूक करते हुए आयुष्मान कार्ड कैंप तक लाने एवं अधिकतम पात्र लाभार्थियों को आयुष्मान कार्ड बनवाने का हर संभव प्रयास किया जाएगा, उन्होंने बताया कि लाभार्थियों को आयुष्मान कार्ड बनवाने हेतु किसी भी प्रकार का शुल्क नहीं देना होगा, पूर्व में आयुष्मान कार्ड बनवाने हेतु रुपया तीस प्रति कार्ड का भुगतान लाभार्थियों द्वारा सीएससी के वीएलई को किया जाता था, अभियान की सफलता हेतु जनपद स्तर पर मुख्य विकास अधिकारी की अध्यक्षता में टास्क फोर्स का गठन किया गया है जिसमें पंचायती राज विभाग ग्राम विकास विभाग आईसीडीएस विभाग के नोडल अधिकारी सम्मिलित होंगे, आयुष्मान कार्ड हेतु कैंप का आयोजन किसी सार्वजनिक स्थान जैसे पंचायत भवन हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर आंगनवाड़ी केंद्र प्राथमिक विद्यालय पर जाएगा, परिवारों को प्रेरित कर ने तथा आयुष्मान कार्ड बनवाने पर आशा व आरोग्य मित्रों को प्रोत्साहन राशि दी जाएगी , जनपद के जिला कार्यक्रम समन्वयक आयुष्मान गोल्डन कार्ड डॉ अनूप पाण्डेय ने बताया कि जनपद में 132856 परिवारों के सापेक्ष 664280 लाभार्थियों है जिसमें 188228 प्रति परिवार लोगों का कार्ड बन चुका है, उन्होंने बताया कि जनपद में अभी तक 5000 लोगों ने इस योजना का लाभ उठाया है जिसके सापेक्ष एक करोड़ 13 लाख 62 हजार 400 का भुगतान किया जा चूका है,जनपद के सभी सीएससी व 6 निजी चिकित्सालय सहित 20 अस्पतालों को इस योजना हेतु चिन्हित किया गया है

Leave a Reply

Your email address will not be published.