वर्ल्ड रिकॉर्ड होल्डर डॉ. विनय श्रीवास्तव को मिला श्रीलंका से डॉक्टरेट की मानद उपाधि क्षेत्र में हर्ष व्याप्त

ब्यूरो रिपोर्ट- हरेन्द्र कुमार यादव 

 गोरखपुर: श्रीलंका की प्रसिद्ध संस्था नमल जीवानन्द फाउंडेशन( NJF)ने भारत की नामचीन पांच शख्सियतों को डॉक्टरेट की मानद उपाधि से अलंकृत किया है।जिसमे एक नाम गोरखपुर के विश्व प्रशिद्ध कोरोना योद्धा का है।
एनजेएफ के प्रमुख डॉ. नमल जीवानन्द एवं निदेशक डॉ उवैस ने धराधाम इंटरनेशनल के प्रमुख सौहार्द शिरोमणि एवम निदेशक डॉ सौरभ पाण्डेय के प्रस्ताव पर कोरोना जांच में विश्व रिकॉर्ड बनाने वाले गोरखपुर के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कौड़ीराम पर कार्यरत डॉ . विनय श्रीवास्तव को डॉक्टरेट की मानद उपाधि प्रदान कर संम्मानित किया ।डॉ विनय श्रीवास्तव ने इस सम्मान के लिए अपने पिता केशव प्रसाद श्रीवास्तव ,माता माधुरी ,पत्नी ममता श्रीवास्तव ,प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ. संतोष वर्मा एवम सभी अपने सहकर्मियों एवम सौहार्दशिरोमणि डॉ. सौरभ पाण्डेय के प्रति आभार व्यक्त किया।इसके पूर्व भी कई राष्ट्रीय एवम अंतरराष्ट्रीय सम्मान प्राप्त हो चुके है।
धराधाम इंटरनेशनल के प्रमुख सौहार्द शिरोमणि डॉ सौरभ पाण्डेय ने डॉ विनय श्रीवास्तव को अंर्तराष्ट्रीय स्तर का सम्मान प्राप्त होने पर बधाई देते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *