निराश्रित गोवंशों के संरक्षण को लेकर जिलाधिकारी ने की बैठक।

  • निराश्रित गोवंशों के संरक्षण को लेकर जिलाधिकारी ने की बैठक।
  • गो आश्रय स्थलों पर गोवंश को ठंड से बचाने के दृष्टिगत समस्त मूलभूत सुविधाएं सुनिश्चित करने के दिए निर्देश।
  • हरा चारा/भूसा तथा स्वच्छ पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित करने के दिए निर्देश।

अमेठी 09 दिसम्बर 2022, जिलाधिकारी राकेश कुमार मिश्र ने गुरुवार देर शाम कलेक्ट्रेट सभागार में निराश्रित गोवंशों के संरक्षण को लेकर गौशालाओं में हरा चारा, भूसा, स्वच्छ पेयजल, ठंड से बचाने, टीन शेड इत्यादि मूलभूत सुविधाओं को लेकर संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक किया एवं आवश्यक निर्देश दिए। बैठक में जिलाधिकारी ने जनपद में संचालित सभी गौशालाओं पर मूलभूत सुविधाओं की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि सभी गौशालाओं में कम से कम 100 कुंतल भूसे की उपलब्धता सुनिश्चित हो तथा गौशालाओं में मौजूद गोवंशों के अनुसार आगामी तीन माह में खर्च होने वाले भूसे का आगणन कर उसी के अनुसार भूसे की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए, इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सभी गौशालाओं पर ताजा स्वच्छ पानी उपलब्ध रहे। उन्होंने कहा कि जहां पर समरसेबल की व्यवस्था नहीं है वहां समरसेबल लगाया जाना सुनिश्चित करें तथा पशुओं के अनुसार चरही का निर्माण कराया जाए, जहां पर पशुओं के बैठने हेतु पर्याप्त मात्रा में टीन शेड की व्यवस्था नहीं है वहां पर पर्याप्त टीन शेड का निर्माण कराया जाए। उन्होंने कहा कि निराश्रित गोवंशों के संरक्षण को लेकर माननीय मुख्यमंत्री जी एवं शासन स्तर से लगातार समीक्षा की जा रही है अतः इस कार्य में किसी भी स्तर पर लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी तथा लापरवाही करने वाले अधिकारी, कर्मचारी के विरुद्ध कठोर कार्यवाही प्रस्तावित की जाएगी। उन्होंने कहा कि वर्तमान में हो ठंड के दृष्टिगत किसी प्रत्येक गौशाला पर चारों तरफ त्रिपाल, शेड के ऊपर पराली डलवाने के साथ ही गोवंश खुले में ना रहे। उन्होंने कहा कि यदि किसी गौशाला पर कोई समस्या है तो तत्काल उच्चाधिकारियों को सूचित कर प्रत्येक दशा में समस्या का निवारण कराना सुनिश्चित करें। बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी सान्या छाबड़ा, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व एके सिंह, जिला विकास अधिकारी तेजभान सिंह, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ जेपी सिंह, जिला पंचायत राज अधिकारी सहित समस्त नोडल अधिकारी/खंड विकास अधिकारी, पशु चिकित्साधिकारी सहित अन्य संबंधित मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *