कौशल विकास प्रशिक्षण से युवाओं को मिल रहा है, रोजगार।

ब्यूरो रिपोर्ट- प्रेम कुमार शुक्ल, अमेठी

                           अमेठी 02 अगस्त 2021, प्रदेश सरकार युवाओं को अधिक से अधिक रोजगार से लगा रही है। प्रदेश के युवक/युवतियों को प्रत्येक जिलों में विभिन्न टेडर्स में प्रशिक्षण दिये जा रहे हैं। प्रशिक्षण प्राप्त युवा स्वरोजगार स्थापित कर रहे हैं साथ ही विभिन्न निजी उद्योगों, फैक्टरियों व संस्थानों में रोजगार मेलों के माध्यम से नौकरियॉ दिलाई जा रही हैं। प्रदेश में अधिक से अधिक युवाओं को कौशल प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए 270 अतिरिक्त प्रशिक्षण प्रदाता अनुबंधित किये गये, जिनमें से 35 प्रशिक्षण प्रदाता विशेष कर दिव्यांगजनों को प्रशिक्षित करने के लिए चयनित किये गये हैं। कौशल विकास कार्यक्रमों के अन्तर्गत युवाओं के प्रशिक्षण हेतु लक्ष्यों का निर्धारण प्रथम बार जिला कौशल विकास योजना की संस्तुतियों के आधार पर किया गया है, ताकि स्थानीय आवश्यकताओं व संभावनाओं के आधार पर युवाओं को कौशल प्रशिक्षण दिया जा सकें, जिससे उन्हें रोजगार प्राप्त हो सके। प्रदेश सरकार प्रदेश में लॉजिस्टिक सेक्टर के अन्तर्गत प्रशिक्षित जनशक्ति की बढ़ती हुई मांग को देखते हुए सेफ एक्सप्रेस जैसी प्रमुख संस्था को फ्लैक्सी प्रशिक्षण प्रदाता के रूप में अनुबंधित किया गया, जिसके द्वारा परीक्षणोपरान्त युवाओं को रोजगार भी उपलब्ध कराया जाएगा। कोविड संक्रमण की अवधि में सुरक्षा कारणों से नियमित प्रशिक्षण सत्रों का आयोजन स्थगित रहने के कारण कोर्सेरा अन्तर्राष्ट्रीय ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफार्म के माध्यम से युवाओं को निःशुल्क प्रशिक्षण की सुविधा उपलब्ध करायी गयी। कोर्सेरा प्लेटफार्म पर उपलब्ध पाठ्यक्रम अन्तर्राष्ट्रीय मानकों के अनुरूप होने के कारण इसके प्रमाण-पत्र की विश्व व्यापी प्राथमिकता है, जिससे प्रशिक्षित युवाओं को देश के बाहर भी रोजगार प्राप्त करने में सुगमता होगी।
मा0 मुख्यमंत्री जी की घोषणा के अनुपालन में महिलाओं के लिए संचालित की जाने वाली पिंक बस सेवा के लिए उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम के माध्यम से महिला वाहन चालकों के विशिष्ट प्रशिक्षण सत्र का आयोजन कोविड प्रोटोकॉल का अनुपालन सुनिश्चित कराते हुए प्रारम्भ कराया गया। कोविड संक्रमण के परिणाम स्वरूप प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं के प्रसार एवं सुदृढ़ीकरण की दृष्टि से हेल्थ सेक्टर के अन्तर्गत युवाओं के प्रशिक्षण हेतु, विशिष्ट प्रशिक्षण सत्रों को कोविड प्रोटोकॉल का अनुपालन सुनिश्चित कराते हुए, प्रारम्भ कराया गया ताकि इन प्रशिक्षित युवाओं की आकस्मिकता के समय चिकित्सालयों तथा स्वास्थ्य केन्द्रों पर सेवाएं प्राप्त की जा सके। प्रदेश में वर्ष 2020-21 में उत्तर प्रदेश कौशल विकास मिशन द्वारा 2.00 लाख से अधिक युवाओं को कौशल विकास प्रशिक्षण प्रदान किया गया, जबकि लगभग 6 माह तक प्रशिक्षण कार्यक्रम कोविड प्रोटोकॉल के कारण स्थगित रहा। कोविड संक्रमण के कारण रोजगार मेलों का आयोजन न हो सकने पर भी प्रदेश के प्रशिक्षित युवाओं को रोजगार दिलाने के लिए 44 ऑनलाइन रोजगार मेलांे का आयोजन किया गया, जिनके माध्यम से इस वर्ष 10427 युवाओं को रोजगार दिलाने में सफलता प्राप्त हुई। प्रदेश सरकार कौशल विकास का प्रशिक्षण प्राप्त लाखों युवक/युवतियों को रोजगार से लगाते हुए उनका आर्थिक उन्नयन कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *