जिलाधिकारी ने किया पोषण अभियान के अंतर्गत जिला कन्वर्जेंस समिति की बैठक।

  • कुपोषित एवं अति कुपोषित बच्चों को आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएं………जिलाधिकारी।
  • राशन वितरण की ली जानकारी, एवं संबंधित अधिकारियों को दिए आवश्यक निर्देश।

ब्यूरो रिपोर्ट-प्रेम कुमार शुक्ल, अमेठी

अमेठी 04 अगस्त 2021, जिलाधिकारी अरुण कुमार की अध्यक्षता में कल देर शाम कैम्प कार्यालय में जिला पोषण समिति एवं कन्वर्जेन्स समिति की बैठक आयोजित हुई। बैठक में जिलाधिकारी ने सर्वप्रथम कुपोषित/अति कुपोषित बच्चों, गर्भवती महिलाओं, धात्रियों को राशन वितरण की जानकारी लिया एवं संबंधित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कोटेदारों के यहां से राशन का उठान कर ससमय वितरण की व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाए। इसके साथ ही जिलाधिकारी ने प्रभारी जिला कार्यक्रम अधिकारी को एक माह के अंदर सभी आंगनवाड़ी केंद्रों पर आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों द्वारा भरे जाने वाले रजिस्टर जैसे वजन रजिस्टर, पोषाहार वितरण रजिस्टर इत्यादि पूर्ण करने के निर्देश दिए साथ ही निरीक्षण के दौरान यदि किसी भी आंगनवाड़ी केंद्र पर रजिस्टर अपूर्ण पाए जाने पर संबंधित के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही किए जाने के भी निर्देश दिए। प्रभारी जिला कार्यक्रम अधिकारी ने बताया कि 0 से 5 वर्ष तक बच्चों के वजन कार्यक्रम में कुल 169829 बच्चों में से जुलाई माह में 164931 बच्चों का वजन किया गया है। जिलाधिकारी ने शत प्रतिशत बच्चों का वजन कराने के निर्देश दिए, इसके साथ ही जिलाधिकारी द्वारा सभी कन्वर्जेन्स विभागों द्वारा किये गए कार्यो की समीक्षा की गई। जनपद स्तरीय अधिकारियो द्वारा कुपोषण मुक्त बनाये जाने के उद्देश्य से कुपोषित ग्राम पंचायतों को सुपोषित बनाने के क्रम में जिलाधिकारी द्वारा सभी जनपद स्तरीय अधिकारियो को निर्देश दिये गये कि कुपोषित बच्चो को ड्राई राशन देकर कुपोषण मुक्त बनाये तथा गर्भवती महिलाओ के खान-पान पर विशेष ध्यान देने तथा बच्चा पैदा होने पर उसका वजन कराकर देखा जाये कि बच्चा स्वस्थ्य है कि नही, यदि बच्चा स्वस्थ्य नही है तो बच्चे की माॅ को आयरन की गोली के साथ विटामिन्स भी दिये जाये और उससे जूडे सभी खान-पान व टीकाकरण का विशेष ध्यान दिये जाने के निर्देश दिये गये। जिलाधिकारी द्वारा सभी अधिकारियो को निर्देशित किया गया कि गर्भवती महिलाओ को हरी साग सब्जिया अधिक मात्रा में खाने के लिए आगनवाड़ी एवं आशा कार्यकत्रियो के माध्यम से प्रेरित करे, जिससे कि गर्भवती महिला एक स्वस्थ्य बच्चे को जन्म दे सके। जिलाधिकारी ने डीपीओ को निर्देश दिया कि जो बच्चे रेड श्रेणी में है उनकी नियमित जानकारी रखें साथ ही उन्हें समुचित मात्रा में पोषाहार उपलब्ध कराकर हरी श्रेणी में लाने का प्रयास करें। उन्होंने कहा कि आयरन एवं कैल्शियम की गोलियों की उपलब्धता पर ध्यान दिया जाए। बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी डा. अंकुर लाठर, प्रभारी जिला कार्यक्रम अधिकारी विनय कुमार, अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी नवीन मिश्रा सहित सीडीपीओ मौजूद रहे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *