तहसील अमेठी में डीएम की अध्यक्षता में आयोजित हुआ संपूर्ण समाधान दिवस।

  • संपूर्ण समाधान दिवस में देर से पहुंचने पर 20 अधिकारियों से स्पष्टीकरण प्राप्त करने के दिए निर्देश।
  • नवीन परती पर अवैध कब्जे की शिकायत को लेकर संबंधित लेखपाल को निलंबित करने के निर्देश।
  • पीड़ित व्यक्ति की समस्याओं को गंभीरता से सुनकर करें निस्तारण……. डीएम।
  • जन समस्याओं के निस्तारण के प्रति गम्भीर रहे और इसमें उदासीनता एवं लापरवाही क्षम्य नही होगी– —–जिलाधिकारी।

ब्यूरो रिपोर्ट- प्रेम कुमार शुक्ल, अमेठी

अमेठी|  जनपद की चारों तहसीलों में संपूर्ण समाधान दिवस का आयोजन किया गया। जिलाधिकारी श्री अरुण कुमार की अध्यक्षता में तहसील अमेठी में कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन करते हुए संपूर्ण समाधान दिवस आयोजित हुआ। संपूर्ण समाधान दिवस में जिलाधिकारी ने फरियादियों की जन समस्या सुनकर मौके पर अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि शिकायतें लंबित न रखी जाये, शिकायतों को गम्भीरता से लिया जाये। संपूर्ण समाधान दिवस के दौरान देरी से आने पर जिलाधिकारी ने 20 अधिकारियों जिनमें अधिशासी अभियंता शारदा सहायक खंड 48, परियोजना निदेशक डूडा, सहायक निबंधक सहकारी समितियां, जिला क्रीड़ा अधिकारी, खादी ग्रामोद्योग अधिकारी, बंदोबस्त अधिकारी चकबंदी, जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक, मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी, जिला होम्योपैथिक चिकित्साधिकारी, चकबंदी अधिकारी अमेठी, एसएचओ मुंशीगंज, सहायक चकबंदी अधिकारी, क्षेत्रीय आयुष यूनानी अधिकारी, अधिशासी अभियंता शारदा सहायक खंड 49, सीडीपीओ भेटुआ व संग्रामपुर, चिकित्सा अधीक्षक भेटुआ, एसडीओ विद्युत भादर, भेटुआ तथा संग्रामपुर से स्पष्टीकरण प्राप्त करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही जिलाधिकारी ने समस्त अधिकारियों को निर्देश दिए कि संपूर्ण समाधान दिवस में समय से आकर जन समस्याएं सुनें तथा उनका निस्तारण कराना सुनिश्चित करें इसमें लापरवाही किए जाने पर संबंधित अधिकारी के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही की जाएगी। संपूर्ण समाधान दिवस के दौरान संग्रामपुर क्षेत्र के मधुपुर खदरी गांव में नवीन परती पर अवैध कब्जे की शिकायत मिलने तथा संबंधित लेखपाल द्वारा शिकायत का निस्तारण न कराए जाने पर जिलाधिकारी ने लेखपाल हनुमान तिवारी को तत्काल निलंबित करने के निर्देश दिए। आज संपूर्ण समाधान दिवस के दौरान सर्वाधिक शिकायतें भूमि पर अवैध कब्जे, राशन तथा पुलिस से संबंधित शिकायतें प्राप्त हुई। जिनके निस्तारण हेतु जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए। उन्होंने लेखपालों को निर्देश दिए कि गांव में जाकर निरंतर भ्रमण कर अवैध कब्जा सहित छोटे-मोटे विवाद निपटाएं। डीएम ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि ग्रामीणों के शिकायती पत्र प्राप्त होते ही तुरन्त कार्रवाई अमल में लाई जायें ताकि तत्समय मौके पर ही निस्तारण किया जा सके। उन्होंने कहा कि जन सामान्य के कल्याणार्थ संचालित विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ पात्र लोगो को दिया जाना सुनिश्चित किया जाये। शासन द्वारा संचालित योजनाएं पात्र व्यक्ति तक अवश्य पहुंचनी चाहिए। आज तहसील अमेठी में कुल 108 शिकायतें प्राप्त हुई जिनके गुणवत्तापूर्ण निस्तारण हेतु मौके पर टीमें भेजी गई, तहसील मुसाफिरखाना में 65 शिकायतें प्राप्त हुई जिसमें से 1 का निस्तारण किया गया शेष शिकायतों के लिए 4 टीम भेजी गई, तहसील तिलोई में 62 शिकायतें प्राप्त हुई जिसमें 1 का निस्तारण किया गया शेष शिकायतों के लिए 3 टीमें भेजी गई तथा तहसील गौरीगंज में 121 शिकायतें प्राप्त हुई जिसमें से 2 शिकायतों का निस्तारण किया गया, शेष शिकायतों के लिए 1 टीमें मौके पर भेजी गई। जिलाधिकारी ने कहा कि शासन जन समस्याओं के निस्तारण के प्रति अत्याधिक गम्भीर है और इसमें उदासीनता एवं लापरवाही क्षम्य नही होगी। उन्होंने समस्त अधिकारियों को निर्देश दिए कि अपने-अपने कार्यालय समय से पहुंचे व जन समस्याएं सुनकर उनका निस्तारण करना सुनिश्चित कराएं। इस अवसर पर विकास से संबंधित प्रकरणों को मुख्य विकास अधिकारी डा. अंकुर लाठर व पुलिस से संबंधित प्रकरणों को पुलिस अधीक्षक दिनेश सिंह ने सुना एवं संबंधित अधिकारियों को निस्तारण के निर्देश दिए। सम्पूर्ण समाधान दिवस के दौरान अपर पुलिस अधीक्षक वीके पांडे, अतिरिक्त मजिस्ट्रेट राकेश कुमार, फाल्गुनी सिंह, श्रद्धा सिंह, पुलिस क्षेत्राधिकारी अर्पित कपूर, परियोजना निदेशक सहित समस्त जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.