जिलाधिकारी ने आज विकासखंड बहादुरपुर अंतर्गत ग्राम मुबारकपुर मुखेतिया में हरित क्रांति योजना अंतर्गत कृषि विभाग द्वारा आयोजित कराए गए धान प्रजाति सम्भा सब-1 के 100 हेक्टेयर कलस्टर प्रदर्शन का किया स्थलीय निरीक्षण।

ब्यूरो रिपोर्ट – प्रेम कुमार शुक्ल, अमेठी

अमेठी 08 सितंबर 2021, जिलाधिकारी श्री अरुण कुमार ने आज बहादुरपुर ब्लाक के ग्राम मुबारकपुर मुखेतिया व बहादुरपुर में हरित क्रांति योजना के अंतर्गत कृषि विभाग द्वारा आयोजित कराये गये धान प्रजाति सम्भा सब-1 के 100 हेक्टेयर कलस्टर प्रदर्शन का किसानों के खेतों में भ्रमण कर निरीक्षण किया गया। इस दौरान जिला कृषि अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि यह प्रदर्शन ढैंचा हरी खाद के साथ धान, गेहूं फसल पद्धति आधारित है। इसमे लाइन से रोपाई की गई है।जिसमे किसानों को बीज मूल्य के 100% अनुदान पर ढैंचा बीज,90% अनुदान पर धान बीज दिया गया है। इसमे किसानों को बीज, खरपतवार नाशी, कीटनाशी, माइक्रोन्यूट्रींस, जिप्सम व बायोफर्टिलिज़र आदि पर कुल मिलाकर 8200 रुपये प्रति हेक्टेयर का अनुदान दिया जाना है।किसानों को 40 kg प्रति हेक्टेयर की दर से ढैंचा बीज व 30 kg प्रति हेक्टेयर की दर से धान बीज प्रजाति सम्भा सब 1 दिया गया है। बीजो पर अनुदान दिया जा चुका है व खरपतवार नाशी ,मिक्रोन्यूट्रियंट के अनुदान का भुगतान प्रक्रियाधीन है।जिलाधिकारी द्वारा किसानों के सामयिक अनुदान के भुगतानों के एक सप्ताह में करने के निर्देश दिए गए। मौके पर उपस्थित किसानों द्वारा बताया गया कि लाइन से रोपाई करने पर इस बार विगत वर्षों की अपेक्षा बहुत ज्यादा कल्ले निकले हैं जिससे निश्चित रूप से उत्पादन में बढ़ोत्तरी होगी। इससे पौधों को पर्याप्त मात्रा में हवा, प्रकाश व पोषक तत्व मिल रहे हैं। उर्वरकों का प्रयोग भी कम किया गया है। धान की फसल की बढ़वार से किसान काफी खुश थे। इस मौके पर जिलाधिकारी द्वारा अधिक से अधिक किसानों को इससे जोड़ने तथा इसके संदेश को पूरे विकास खंड व इसके आसपास के क्षेत्रों में प्रसारित करने के निर्देश दिए व किसानों से भी आह्वान किया कि वे भी इस तकनीकी का अपने स्तर से किसानों में फैलाये तथा कृषि विभाग द्वारा जो भी तकनीकी समय समय पर बताई जाये उसका अपनी खेती में प्रयोग करें। साथ ही फसल की आगे भी देखभाल करते रहे ताकि किसी रोग कीट का आक्रमण न हो, बेहतर होगा पहले ही इसके उपाय कर लिए जाये ताकि किसी रोग कीट की दशा में उसका प्रबंधन अच्छे से किया जा सके। जिलाधिकारी द्वारा जिला कृषि रक्षा अधिकारी को निर्देश दिए गए कि रोग, कीट के कारण होने वाली बीमारियों के बचाव के लिए पर्याप्त मात्रा में कृषि रक्षा रसायनों की व्यवस्था कर ली जाए। इस अवसर पर राम नारायण, अरविंद कुमार सिंह, सावित्री देवी, उषा सिंह आदि किसान व सत्येंद्र सिंह चौहान उपकृषि निदेशक, अखिलेश पांडेय जिला कृषि अधिकारी, हरिओम मिश्र एसडीईओ तिलोई, डॉ आर के आनंद कृषि वैज्ञानिक के0वी0के0 कठौरा सहित अन्य संबंधित उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *