जिलाधिकारी ने तहसील गौरीगंज का किया स्थलीय निरीक्षण।

  • लंबित वादों को शीघ्र निस्तारित करने के दिए निर्देश।
  • अमीनों की सेवा पुस्तिका पूर्ण न करने पर एडब्लूबीएन के विरुद्ध आरोप पत्र गठित करने के दिए निर्देश।
  • शौचालय में गंदगी देख संबंधित को लगाई कड़ी फटकार तत्काल साफ सफाई कराने के दिए निर्देश।

अमेठी , जिलाधिकारी राकेश कुमार मिश्र ने आज तहसील गौरीगंज का स्थलीय निरीक्षण कर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने न्यायालय कक्ष उप जिलाधिकारी व तहसीलदार, संग्रह अभिलेखागार, निर्वाचन कक्ष, संग्रह कक्ष सहित अन्य कक्षों का निरीक्षण किया। सर्वप्रथम जिलाधिकारी ने न्यायालय उप जिलाधिकारी गौरीगंज के कक्ष का निरीक्षण कर लंबित वादों को शीघ्र निस्तारित करने के निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने मिसिलबंद रजिस्टर, गार्ड पत्रावली सहित विभिन्न पत्रावलियों का निरीक्षण किया। उन्होंने पांच सबसे पुराने वादों की जानकारी ली तथा एक सप्ताह के अंदर निस्तारित करने के निर्देश उप जिलाधिकारी गौरीगंज को दिए। निरीक्षण के दौरान संग्रह अभिलेखागार के बगल बने शौचालय में गंदगी देख जिलाधिकारी ने तहसीलदार गौरीगंज को कड़ी फटकार लगाई तथा शौचालय को तत्काल साफ कराने के निर्देश दिए। इसके उपरांत उन्होंने संग्रह कक्ष में आरसी रजिस्टर का निरीक्षण किया जिसमें सुशीला सिंह पत्नी पवन सिंह ग्राम पंचायत अत्ता नगर की स्टांप वसूली 2018 से लंबित पाई गई। जिस पर जिलाधिकारी ने कड़ी नाराजगी जाहिर करते हुए एक सप्ताह के अंदर वसूली करने के निर्देश उप जिलाधिकारी गौरीगंज को दिए। इसके उपरांत जिलाधिकारी ने संग्रह अमीनों की सेवा पुस्तिका का अवलोकन किया जिसमें 2018 के बाद किसी भी प्रविष्टि का अंकन नहीं पाया गया जिस पर जिलाधिकारी ने कड़ी नाराजगी जाहिर करते हुए सहायक वासिल वाकिब नवीस (एडब्लूबीएन) मुमताज नकवी के विरुद्ध आरोप पत्र गठित करने के निर्देश उप जिलाधिकारी गौरीगंज को दिए। वहीं निरीक्षण के दौरान चकबंदी कार्यालय में के बाहर टूटा फर्नीचर पाए जाने पर जिलाधिकारी ने तत्काल वहां से फर्नीचर को हटाने के निर्देश दिए साथ ही तहसील परिसर में नए फर्नीचर व मरम्मत कार्य का आगणन कर राजस्व परिषद से बजट की मांग करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने दैवीय आपदा पत्रावली का निरीक्षण किया तथा अब तक भुगतान की स्थिति के बारे में जानकारी ली साथ ही लेखपालों की सेवा पुस्तिका का निरीक्षण किया तथा एक सप्ताह के अंदर सेवा पुस्तिका पूर्ण करने के निर्देश दिए, इसके साथ ही उन्होंने जनसूचना पत्रावली का निरीक्षण किया जन सूचना पत्रावली में नायब नाजिर द्वारा आने वाले शुल्क की पंजिका नहीं बनाई गई थी तथा जन सूचना के अधिकतर मामलों में कृत कार्यवाही का अंकन भी नहीं पाया गया, जिस पर जिलाधिकारी ने नायब नाजिर को एक सप्ताह के अंदर रजिस्टर को पूर्ण करते हुए उपजिलाधिकारी से हस्ताक्षरित कराने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने अधिकारियों, कर्मचारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि कार्यालय समय से आएं तथा अपने पदीय दायित्वों का निर्वाहन पूर्ण जिम्मेदारी के साथ करें, पत्रावलियों का रख-रखाव सही रखें, उन्होंने कहा कि अगले निरीक्षण में यदि किसी भी अधिकारी, कर्मचारी के पटल पर कोई भी कार्य लंबित पाया गया तो उसके विरुद्ध कड़ी अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने कहा कि कार्यालय परिसर में बेहतर साफ सफाई की व्यवस्था तथा आने वाले लोगों के लिए बैठने व पीने के पानी की समुचित व्यवस्था उपलब्ध रहे। निरीक्षण के दौरान उपजिलाधिकारी गौरीगंज राकेश कुमार, तहसीलदार गौरीगंज पवन शर्मा सहित अन्य संबंधित मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *