रानी सुषमा देवी स्नातकोत्तर महिला महाविद्यालय में हुई संगोष्ठी

रानी सुषमा देवी स्नातकोत्तर महिला महाविद्यालय में हुई संगोष्ठी

अमेठी। रानी सुषमा देवी स्नातकोत्तर महिला महाविद्यालय अमेठी में 14 सितंबर से 29 सितंबर 2022 तक चल रहे हिन्दी पखवाड़ा के अंतर्गत ‘भाषाओं के समन्वय में हिन्दी की भूमिका’ विषय पर संगोष्ठी हुआ।
इस संगोष्ठी का शुभारंभ दीप प्रज्ज्वलन एवं मां वीणापाणि के चित्र पर पुष्पार्चन से हुआ। नेहरू युवा केंद्र के निदेशक डॉ. आराधना राज ने सभी गणमान्य अतिथियों का स्वागत किया। मुख्य वक्ता के रूप में आर.आर.पी.जी. के पूर्व विभागाध्यक्ष (भूगोल) डॉ0 अर्जुन प्रसाद पांडेय ने’भाषाओं के समन्वय में हिन्दी की भूमिका’विषय पर अपने विचार प्रस्तुत किए। साथ ही डॉ. शशांक त्रिपाठी ने हिन्दी के विस्तार पर प्रकाश डाला। हिन्दी विभाग की प्राध्यापिका राम कुमारी साहू ने हिन्दी के विस्तार, परिष्कार और परिमार्जन पर प्रकाश डाला। बी.ए.द्वितीय वर्ष की छात्रा आंचल ने हिन्दी पढ़ने बोलने व प्रचार-प्रसार करने का दृढ़ संकल्प किया। बी.ए. प्रथम वर्ष की छात्रा काजल ने हिन्दी पर अपने विचार प्रस्तुत किए साथ ही नेहरू युवा केंद्र के निदेशक डॉ .आराधना राज ने प्रशस्ति पत्र प्रदान की। महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ. पूनम सिंह जी ने अपने संबोधन में हिन्दी को अपने विचारों के आदान-प्रदान में सबसे सशक्त भाषा बताया और उसे दैनिक जीवन में अधिकाधिक प्रयोग पर बल दिया।
आभार प्रकाशन एन. एस. की कार्यक्रम अधिकारी डॉ पूजा सिंह ने किया। इस अवसर पर महाविद्यालय की छात्राएं सभी प्राध्यापक एवं प्राध्यापिकाएं उपस्थित रही। इस संगोष्ठी का संचालन एन .एस.. की कार्यक्रम अधिकारी सुनीता तिवारी ने किया।कार्यक्रम का समापन राष्ट्रगान से हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *