प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजनांतर्गत रिवर रैचिंग कार्यक्रम एवं जागरूकता गोष्ठी का हुआ आयोजन।

अमेठी , सहायक निदेशक मत्स्य एके शुक्ला ने बताया कि नदियों में मत्स्य संरक्षण एवं पर्यावरण संतुलन के दृष्टिकोण से आज विकासखंड मुसाफिरखाना के गाजनपुर दुवरिया घाट गोमती नदी में 02 लाख भारतीय मेजर कार्य के 80 से 100 मिमी के बच्चे छोड़े गए। रिवर रैचिंग के पूर्व घाट के समीप एक जागरूकता गोष्ठी का आयोजन भी किया गया। जिसके मुख्य अतिथि माननीय विधायक जगदीशपुर सुरेश पासी रहे। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए माननीय विधायक ने कहा कि रिवर रैचिंग कार्यक्रम वर्तमान सरकार की महत्वाकांक्षी योजना है जिसमें नदियों में मत्स्य संपदा के घट रहे संसाधन को बढ़ाया जाना है, क्योंकि नदियों से हमारे मछुआरों को रोजगार के साधन उपलब्ध होते हैं। कार्यक्रम को विकासखंड मुसाफिरखाना के क्षेत्र प्रमुख प्रतिनिधि दिनेश प्रताप सिंह ने भी संबोधित किया और उन्होंने अपने विकासखंड में आयोजित हुए इस कार्यक्रम के लिए प्रसन्नता व्यक्त की साथ ही कहा कि इस कार्यक्रम से नदियों के किनारे निवास कर रहे व्यक्तियों को मछली पकड़ने एवं उनकी बिक्री से उन्हें रोजगार उपलब्ध होगा। सहायक निदेशक मत्स्य ने बताया कि नदियों में मत्स्य संरक्षण एवं पर्यावरण संतुलन के दृष्टि से रिवर रैचिंग का कार्यक्रम प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना अंतर्गत पूरे प्रदेश में आयोजित हो रहा है उसी कड़ी में आज जनपद अमेठी के दुवरिया घाट गोमती नदी में 02 लाख कटला रोहू एवं नैन की मत्स्य अंगुलिका छोड़ी गई है। इस मौके पर निषाद पार्टी के जिला अध्यक्ष सागर निषाद ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया एवं मत्स्य अंगुलिका छोड़ी। क्षेत्र पंचायत प्रमुख गौरीगंज के प्रतिनिधि उमेश सिंह ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया और रिवर रैचिंग कार्यक्रम में सहयोग किया। गोष्ठी में क्षेत्रीय मत्स्य जीवी सहकारी समितियों के पदाधिकारी और सदस्य सहित मत्स्य निरीक्षक अनिरुद्ध वर्मा, अनीश हैदर उपस्थित रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *