हिन्दी राष्ट्र,संस्कृति की पहचान-डा अर्जुन पाण्डेय

* विश्व के अब तक 25 देश मे हिन्दी मे पढ़ाई

*हिन्दी पर गर्व,राष्ट्र भाषा नही

अमेठी।नेहरू युवा केंद्र की ओर से कार्यालय परिसर में चल रहे राजभाषा हिंदी दिवस पखवाड़ा का समापन शुक्रवार को किया गया।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अवधी साहित्य संस्थान अमेठी अध्यक्ष डॉ अर्जुन पांडेय रहे
।अध्यक्षता डा फूलकली गुप्ता ने की । केंद्र की उपनिदेशक आराधना राज ने मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण व दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की शुरुआत की।

डॉ अर्जुन पांडेय ने कहा कि हिंदी हमारे राष्ट्र एवं संस्कृति की पहचान है। विश्व के लगभग 25 देशों में हिंदी पढ़ाई जाती है। हिन्दी के सम्वर्द्धन में प्रवासी भारतीयों का योगदान सर्वाधिक है। हिंदी को राजभाषा के स्थान पर राष्ट्रभाषा का दर्जा मिलना चाहिए। हिंदी भाषा पर हमें गर्व होना चाहिए। मलिक मोहम्मद जायसी का ग्रंथ पद्मावत अवधी भाषा में है । अभी तक अवधी में इससे बड़ा ग्रंथ कोई ग्रंथ नहीं है। ।
उन्होंने कहा कि प्राइमरी में अंग्रेजी आना, हिंदी के लिए शुभ संकेत नहीं है।

डा फूलकली गुप्ता ने कहा कि हिंदी दिवस को संकल्प दिवस के रूप में मनाया जाना चाहिए। हमें संकल्प लेना चाहिए कि अगले वर्ष हिंदी को और आगे बढ़ाएंगे। हिंदी भाषा में संस्कार, शिष्टाचार ,आदर छिपा हुआ है। हिंदी का उच्चारण ठीक से करना चाहिए। हिंदी भाषा हमारी मां है। संस्कृत भाषा से सभी भाषाएं निकली हैं ।

14सितम्बर से 29 सितंबर 2022 तक पखवाड़े के दौरान आयोजित निबंध लेखन, लेखन ,क्विज प्रतियोगिता और अंताक्षरी में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाली जान्ह्वी गुप्ता, रोली,साक्षी गुप्ता और साक्षी को प्रमाण पत्र व उपहार भेंट कर सम्मानित किया गया।

डा आराधना राज ने अतिथियों को अंगवस्त्र देकर सम्मानित किया। कार्यक्रम का संचालन पूर्व एन वाई वी राघवेंद्र प्रताप सिंह ने किया। इस अवसर पर वरिष्ठ लेखाकार शिव शंकर यादव ,एन वाई वी विवेक मिश्र सुमित्रा देवी ,अनुराग जायसवाल विपिन मिश्र खुशी आंचल, प्रीति आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *