जिलाधिकारी की अध्यक्षता में जिला सड़क विद्यालयी यान एवं परिवहन सुरक्षा समिति की बैठक हुई आयोजित।

  • जिलाधिकारी की अध्यक्षता में जिला सड़क विद्यालयी यान एवं परिवहन सुरक्षा समिति की बैठक हुई आयोजित।
  • ब्लैक स्पॉट एरिया में साइनेज बोर्ड व स्पीड ब्रेकर बनाने के दिए निर्देश।
  • स्कूली वाहनों की नियमित चेकिंग करने के दिए निर्देश।
  • यातायात नियमों के संबंध में जन सामान्य को करें जागरूक।

अमेठी, जिलाधिकारी राकेश कुमार मिश्र की अध्यक्षता में आज कलेक्ट्रेट सभागार में जिला सडक सुरक्षा विद्यालयी यान एवं परिवहन सुरक्षा समिति की बैठक आयोजित की गई। बैठक में एआरटीओ ने बताया कि 1 अप्रैल 2022 से 31 अक्टूबर 2022 तक परिवहन एवं पुलिस विभाग द्वारा 15198 हेलमेट न लगाने व 2101 सीट बेल्ट ना लगाने के संबंध में चालान किए गए हैं, माल वाहनों में ओवरलोडिंग के विरुद्ध 467 वाहनों के चालान/बंद की कार्यवाही की गई जिसमें रु0 106.21 लाख शुल्क वसूला गया, वाहन चलाते समय मोबाइल के प्रयोग करने के अभियोग में 245 चालान किए गए, नशे की हालत में वाहन चालक के विरुद्ध कार्यवाही करते हुए 24 वाहनों का चालान किया गया, यातायात नियमों के उल्लंघन में 6140 वाहनों के चालान किए गए। बैठक में एआरटीओ ने बताया कि सड़क सुरक्षा को लेकर जनपद में निरंतर जागरूकता अभियान चलाए जा रहे हैं। बैठक में एआरटीओ ने आटोमेटिक ड्राइविंग टेस्टिंग ट्रैक व फिटनेस सेंटर के निर्माण के लिए 02 एकड़ भूमि की आवश्यकता बताई जिस पर जिलाधिकारी ने ऑटोमेटिक ड्राइविंग टेस्टिंग ट्रैक व फिटनेस सेंटर हेतु 02 एकड़ भूमि को उपलब्ध कराने के लिए उप जिलाधिकारी गौरीगंज को पत्र प्रेषित करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग तथा एनएचएआई के अधिशासी अभियंता को चिन्हित ब्लैक स्पाट पर संकेतांक बोर्ड, साइड पट्टी व स्पीड ब्रेकर बनवाने व उन पर कलर/लाइट करवाने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने एआरटीओ को सड़क सुरक्षा जागरूकता अभियान चलाने के निर्देश दिए। उन्होंने खासकर बच्चों को स्कूलों में ट्रैफिक नियम के बारे में जागरूक करने के निर्देश दिए, साथ ही उन्होंने सभी अभिभावकों से अपील किया कि वह अपने बच्चों को स्कूटर या मोटरसाइकिल चलाने के लिए न दें। जिलाधिकारी ने सभी हाई स्कूल/इंटरमीडिएट व डिग्री कॉलेजों में ट्रैफिक नियमों/सड़क सुरक्षा जागरूकता संबंधी पम्पलेट बंटवाने के निर्देश एआरटीओ को दिए। बैठक में जिलाधिकारी ने एआरटीओ व ट्रैफिक पुलिस को सड़क किनारे खड़े वाहनों की चेकिंग कर उन पर कार्यवाही करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने सड़क सुरक्षा के अन्तर्गत डग्गामार वाहनों, स्कूली वाहनों, टैम्पों तथा टैक्सी को एआरटीओ व पुलिस विभाग को संयुक्त रूप् से अभियान चलाकर सघन चेकिंग कर डग्गामार वाहनों के खिलाफ कार्यवाही करने के निर्देश दिये। उन्होंने सड़क दुर्घनाओं को रोकने के लिए लोगों को जागरूक करने के निर्देश एआरटीओ व पुलिस विभाग को दिया। बैठक में एआरटीओ ने बताया कि सड़क दुर्घटना होने की स्थिति में यदि कोई व्यक्ति घायल व्यक्ति को तुरंत चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के लिए गोल्डन आवर में अस्पताल पहुंचाता है तो उसे नगद पुरस्कार देने की व्यवस्था है साथ ही उसकी पहचान व नाम गोपनीय रखा जाएगा। बैठक में जिलाधिकारी ने सड़क सुरक्षा को लेकर वृहद जन जागरूकता अभियान चलाने के निर्देश दिए। उन्होंने पेट्रोल पंप मालिकों से अपील करते हुए कहा कि बिना हेलमेट के किसी भी व्यक्ति को पेट्रोल ना दें इसके साथ ही उन्होंने एआरटीओ व पुलिस विभाग को हेलमेट और सीट बेल्ट ना लगाने वालों का चालान करने के निर्देश दिए। बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी सान्या छाबड़ा, आरटीओ प्रवर्तन अयोध्या मंडल अयोध्या ऋतु सिंह, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ विमलेंदु शेखर, एआरटीओ प्रशासन सर्वेश कुमार सिंह, एआरटीओ प्रवर्तन अरविंद कुमार त्रिवेदी, अधिशासी अभियंता लोनिवि शैलेंद्र कुमार सिंह, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी संगीता सिंह, पुलिस क्षेत्राधिकारी गौरीगंज मयंक द्विवेदी, एनएचआई के अधिशासी अभियंता, विभिन्न विद्यालयों के प्रबंधक/प्रधानाचार्य सहित अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *