जेलों में बंद खूंखार अपराधियों और माफियाओं की हर गतिविधियों पर रहेगी कैमरों की नजर

 

लखनऊ।उत्तर प्रदेश की जेलों में बंद दुर्दांत अपराधियों और माफियाओं की हर गतिविधि पर नजर रखने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने खास इंतजाम किया है।मुख्यमंत्री के निर्देश पर यूपी की 30 जेलों में CCTV कैमरों की संख्या बढ़ाने और उनके अपग्रेडेशन का काम अंतिम चरण में है।जेल विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बुधवार को इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि इस महत्वाकांक्षी परियोजना को आगामी फरवरी तक पूरा कर लिया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने दिया था बजट जारी करने का निर्देश

जेल विभाग की ओर से शासन को इस संबंध में पिछले साल एक प्रस्ताव भेजा गया था।प्रस्ताव पर मुख्यमंत्री ने एक उच्च स्तरीय बैठक में गृह विभाग को लगभग 9.76 करोड़ रुपए का बजट जारी करने का निर्देश दिया था।दूसरे चरण में यूपी की 20 अन्य जेलों में CCTV कैमरों की संख्या बढ़ाने और पुराने कैमरों को बदलने के लिए लगभग 6 लाख रुपए का बजट जारी किया गया,इसको लेकर जेल विभाग की ओर से निविदा की कार्रवाई शुरू कर दी गई है, जो अप्रैल तक पूरी हो जाएगी।

पुलिस महानिदेशक (कारागार) आनंद कुमार ने बताया कि राज्य की जेलों में सुरक्षा व्यवस्था को पुख्ता करने के लिए कैमरों की संख्या बढ़ाने के साथ उन्हें सर्विलांस से जोड़ने काम युद्धस्तर पर जारी है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर 30 जेलों में 933 CCTV कैमरे लगाए जा रहे हैं, जिसमें से 670 नए CCTV लगाए जा चुके हैं जबकि शेष खराब हो चुके कैमरे बदले जा रहे हैं। ऐसे में इन जेलों में 34 CCTV लगने से यहां पर इनकी संख्या 50 से 60 हो गई है। सबसे ज्यादा 46 कैमरे आगरा जिला कारागार में लगाए गए हैं।

आनंद कुमार ने बताया कि इन सभी कैमरों को कारागार मुख्यालय से सीधे जोड़ दिया गया है ताकि कारागार मुख्यालय में संचालित कमांड सेंटर में वीडियो वॉल के माध्यम से जेलों की सीधी निगरानी 24 घंटे हो सके।उन्होंने बताया कि राज्य की जिन जेलों में कैमरे बदले जा रहे हैं,उसमें संवेदनशील बांदा जेल भी शामिल है, जहां माफिया मुख्तार अंसारी बंद है। इसके अलावा केंद्रीय कारागार आगरा, बरेली फतेहगढ़, नैनी व वाराणसी में भी CCTV कैमरों की संख्या को बढ़ाया गया है।

आनंद कुमार ने बताया कि केंद्रीय कारागार आगरा, बरेली, फतेहगढ़, नैनी, वाराणसी में 933 CCTV कैमरे लगाने की प्रक्रिया पूरी हो गई है। इसके साथ ही जिला कारागार आगरा, फिरोजाबाद, अलीगढ़, सुलतानपुर, कानपुर, कानपुर देहात, बुलंदशहर, मेरठ, गाजियाबाद, मुजफ्फरनगर, वाराणसी, इटावा, गाजीपुर, मिर्जापुर, अयोध्या, बाराबंकी, कन्नौज, आजमगढ़, सीतापुर, चित्रकूट, गोरखपुर, मुरादाबाद, उन्नाव, बांदा और प्रतापगढ़ में नए सीसीटीवी लगाए जा चुके हैं जबकि खराब सीसीटीवी कैमरों को बदला जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *