नहीं मिली सरकारी नौकरी तो छात्र ने की खुदकुशी, छोड़ा सुसाइड नोट

ब्यूरो रिपोर्ट- सुनील विष्णु चिलप

पुणे: महाराष्ट्र के पुणे में एक युवक ने इसलिए आत्महत्या कर ली क्योंकि उसने महाराष्ट्र लोक सेवा आयोग की प्रिलियम्स परीक्षा पास कर ली थी लेकिन उसे नौकरी नहीं मिली. निराशा में उसने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. पुणे के हडपसर इलाके के रहने वाले स्वप्निल लोणकर की बुधवार को अपने घर में मौत हो गई. स्वप्निल ने आत्महत्या करने से पहले सुसाइड नोट छोड़ा है, जिसमे उसने लिखा है कि एमपीएससी एक मायाजाल है, इसमें न पड़ो, मैं घबराया या परेशान नहीं हुआ. मेरे पास समय नहीं था.
एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, लोनकर के पिता पुणे के शनिवार पेठ इलाके में एक प्रिंटिंग प्रेस के मालिक हैं। दोनों माता-पिता बुधवार को रोज काम के सिलसिले में वहां गए थे। उसकी बहन भी उस दिन किसी काम से बाहर गई हुई थी।
दोपहर में जब वह घर लौटी तो उसका भाई कहीं नहीं मिला। वह उसके खोजने के लिए उसके कमरे में दाखिल घुसी तो उसे जमीन पर पड़ा देखकर हैरान रह गई। उसने माता-पिता को फोन कर तुरंत पुलिस को बुलाया और आनन फानन में उसे अस्पताल ले जाया गया। हालांकि अस्पताल पहुंचने पर उसे मृत घोषित कर दिया गया।
सुसाइड नोट में, युवक ने लिखा, “एमपीएससी एक माया है। इसके पीछे मत भागो। जैसे-जैसे मैं बड़ा होता जा रहा हूं, बोझ बढ़ता जा रहा है। मेरा आत्मविश्वास कम हो रहा है मुझे प्री परीक्षा पास किए दो साल हो चुके हैं। मेरे ऊपर पहाड़ जैसा बड़ा कर्ज जमा हो गया है और इसे प्राइवेट नौकरी करके नहीं चुकाया जा सकता। अगर कोविड नहीं होता, तो सभी परीक्षाएँ समय पर होतीं। जिंदगी कुछ और होती। पिछले कुछ समय से मेरे मन में नकारात्मक विचार आ रहे हैं लेकिन मैं इस उम्मीद पर कायम था कि कुछ अच्छा होगा। अभी इसकी संभावना नहीं दिख रही है। मेरी आत्महत्या के लिए कोई जिम्मेदार नहीं है, यह मेरा अपना फैसला है। मुझे माफ कर दो। ”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *