जिलाधिकारी की अध्यक्षता में आयोजित हुई विकास कार्यों की मासिक समीक्षा बैठक।

  • विकास कार्यों व जनसमस्याओं के निस्तारण में किसी भी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नही होगी………जिलाधिकारी।
  • विभिन्न योजनाओं की प्रगति की ग्रेडिंग में सुधार लाएं अधिकारी…..डीएम।

 

अमेठी|  जिलाधिकारी अरुण कुमार की अध्यक्षता में आज शासन के सर्वोच्च प्राथमिकता कार्यक्रम के नवीन 37 प्रारुपों पर विकास कार्य की मासिक समीक्षा बैठक का आयोजन कलेक्ट्रेट सभागार में किया गया। बैठक में उन्होंने सम्बन्धित विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि अपने-अपने विभाग की योजनाओं/कार्यक्रमों के लक्ष्य को निर्धारित समय सीमा में अवश्य पूर्ण करें। उन्होंने कहा कि अधिकारीगण शासन के विकास प्राथमिकता कार्यक्रमों पर विशेष ध्यान दें। इसमें किसी प्रकार की शिथिलता कदापि न बरती जाये।समीक्षा करते हुए डीएम ने कहा कि कार्यक्रम क्रियान्वयन विभाग द्वारा जारी रैंकिंग में जिन विभागों की श्रेणी-डी प्राप्त हुई है। ऐसे विभाग अपनी प्रभावी कार्ययोजना बनाकर स्वंय नियमित समीक्षा करें और आगामी माह में ए-श्रेणी प्राप्त करें। उन्होंने कहा कि इसमें जिस स्तर पर उनके अथवा सीडीओ के मार्गदर्शन एवं सहयोग की अपेक्षा हो तो उसे ससमय प्राप्त करें। डीएम ने शासन के विकास प्राथमिकता कार्यक्रमों की विभागवार/योजनावार समीक्षा के दौरान स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण के अन्तर्गत चिकित्सकों, दवाओं की उपलब्धता, स्वास्थ्य सेवाओं की स्थिति, टीकाकरण आदि, पंचायती राज विभाग के अन्तर्गत राज्य/14वां वित्त आयोग, कायाकल्प योजना अंतर्गत कराए जा रहे कार्यों, राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान, समाज कल्याण के अन्तर्गत छात्रवृत्ति वितरण, मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना, पेंशन योजना भौतिक/वित्तीय, दिव्यांगजन सशक्तीकरण पेंशन योजना, प्रोबेशन विभाग, ग्राम विकास के अन्तर्गत मुख्यमंत्री समग्र ग्राम विकास योजना अवस्थापना सुविधाएं, मुख्यमंत्री आवास योजना ग्रामीण, राष्ट्रीय ग्रामीण अजीविका मिशन, मनरेगा, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल मिशन, खाद्य एवं रसद के अन्तर्गत राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना, आधार प्रमाणीकरण के माध्यम से खाद्यान्य वितरण की प्रगति के बारे में जानकारी ली, तथा संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि अपने-अपने विभाग की योजनाओं के लक्ष्यों को समय से पूर्ण करें। उन्होंने समीक्षा बैठक में लोक निर्माण विभाग के अन्तर्गत जनपद में नई सड़क का निर्माण, सेतुओं का निर्माण, सड़कों को गड्ढ़ा मुक्त किये जाने आदि, विद्युत विभाग की समीक्षा में सरकार की मंशानुरूप रोस्टर के अनुसार विद्युत अपूर्ति, ग्रामों का ऊर्जीकरण, ट्रान्सफार्मरों का प्रतिस्थापन, कृषि विभाग के अन्तर्गत खाद व बीज की उपलब्धता एवं वितरण, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, ग्राम विकास के अन्तर्गत प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण एवं शहरी, बाल विकास एवं पुष्टाहार, लघु सिंचाई व वन विभाग आदि की योजनाओं की गहन समीक्षा करते हुए आवश्यक दिशा निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिये। बैठक में जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि जन कल्याणकारी योजनाओं/कार्यक्रमों से लाभांवित लाभार्थियों का सत्यापन भी कराया जाये। उन्होंने बैठक में उपस्थित अधिकारियों को निर्देशित किया कि अपने-अपने विभाग की योजनाओं/कार्यक्रमों को पूर्ण करने के लिये विशेष ध्यान दें। सभी अधिकारी अपने-अपने कार्यालय समय से पहुंचे तथा जनता की समस्याओं का मौके पर निस्तारण करना सुनिश्चित करें। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी डा. अंकुर लाठर, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. आशुतोष दूबे, जिला विकास अधिकारी प्रदीप कुमार पाण्डेय, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी विनोद मिश्रा, अधिशाषी अभियन्ता लो0नि0वि0 राकेश चौधरी, अधिशाषी अभियन्ता जल निगम सहित अन्य विभागों के अधिकारीगण आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *