ग्रामीणों की पिटाई से युवक की जिला चिकित्सालय में मौत

ब्यूरो प्रमुख – एन. अंसारी

गोरखपुर। ग्रामीणों की पिटाई से चोरी करने गए युवक की जिला चिकित्सालय में मौत। चोरी के आरोप में रामगढ़ताल थाना पर ग्रामीणों ने मार पीट कर पुलिस को सौप दिया था पुलिस के सहयोग से जिला चिकित्सालय के इमरजेंसी वार्ड में युवक को कराया गया था भर्ती। परिजनों का आरोप है कि ग्रामीणों की पिटाई से घायल गौतम के उपचार में लापरवाही की गई। अचेत होकर गिरने पर पुलिस उसे जिला अस्पताल की इमरजेंसी ले गई। वहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित किया। मृतक का भाई उपेंद्र ने जिला चिकित्सालय पर बताया कि बृहस्पतिवार को रात में 8 बजे से हमारा भाई लापता था काफी खोजने पर पता नहीं चला सुबह आजाद नगर चौकी पर पता किया गया तो वहा भाई नहीं था वहां से बताया गया कि रामगढ़ताल थाने पर पता करो थाने पर हम व हमारे परिजन गये तो हमारा भाई वही थाने पर था हम लोगो को देखते भाई रोने लगा और तवियत खराब हो गया होमगार्ड टेम्पू में लाद कर जिलाचिकित्सालय में ला कर इमरजेंसी में भर्ती कराया कुछ देर बाद हमारे भाई की मौत हो गयी आगे उपेंद्र ने बताया कि गायघाट निवासी परशुराम यादव के मारने पीटने से हमारा भाई बुरी तरीके से घायल हो गया था वही हमारे भाई को मारा है उसी के वजह से हमारे भाई की मौत हुयी हैं। घटना की सूचना पाकर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ विपिन ताडा व पुलिस अधीक्षक नगर सोनम कुमार घटनास्थल व रामगढ़ताल थाने का निरीक्षण किया थाने पर परशुराम यादव ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को बताया कि गौतम सिंह हमारे धर चोरी कर रहा था जिसे पकड़ लिया गया था उसे हमारे व सहयोगी द्वारा मारने व पीटने से घायल हो गया था पुलिस को सौप दिया गया था जिसे जिला चिकित्सालय में भर्ती करा दिया गया था वहा गौतम की मृत्यु हो गई। गौतम की मृत्यु होने पर परिजन हंगामा करने लगे
सीओ कोतवाली विमल कुमार सिंह सीओ कैंट जय प्रताप सिंह ने परिजनों को समझा-बुझाकर शांत कराने का कार्य किया। रामगढ़ताल थाना प्रभारी इंस्पेक्टर जेएन सिंह ने बताया कि युवक को गांव के लोगों ने पकड़ा था। पुलिस ने उसकी कोई पिटाई नहीं की। हालत बिगड़ने पर उसे अस्पताल ले जाया गया था।
रामगढ़ताल, लहसड़ी गांव के अमर सिंह शिवमंदिर के पुजारी हैं। उनके पांच बेटों में सबसे बड़े प्रमोद की मौत हो चुकी है। दूसरे नंबर का उपेंद्र, तीसरा जितेंद्र चौथा नागेंद्र और सबसे छोटा गौतम सिंह हैं। गौतम के अन्य तीनों भाई परदेस में रहकर पेंट पालिश का काम करते थे। सभी लॉकडाउन में घर लौट आए। गौतम गांव में रहकर लहसड़ी बंधे के पास साइकिल की दुकान चलाता था। गुरुवार की रात वह घर नहीं पहुंचा तो परिजनों ने उसकी तलाश शुरू कर दी।
शुक्रवार की सुबह घर के लोग लहसड़ी गए। वहां कुछ जानकारी नहीं मिली। इसके बाद इधर- उधर तलाश करते रहे। उसका पता न चलने पर तलाश करते हुए गायघाट और कांशीराम आवास योजना की तरफ चले गए। गौतम अक्सर अपने किसी परिचित से मिलने गायघाट में जाता था। काफी देर तक जब कोई सूचना नहीं मिली तो गौतम के पिता, भाई और भाभी आजाद नगर चौकी पहुच गये वहां से रामगढ़ताल थाने पर पर भेजा गया गौतम वही था तवियत खराब होने पर पुलिस द्वारा जिलाचिकित्सालय के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया गया वही उसकी मौत हो गयी। वहीं एसएसपी डॉ विपिन ताडा ने बताया कि पीआरबी की सूचना पर उक्त युवक को रात को अस्पताल में भर्ती कराया गया था
जहां तबीयत खराब होने पर डॉक्टरों ने जिला चिकित्सालय रेफर कर दिया जिसकी आज शुक्रवार को लगभग 10 बजे मृत्यु हो गई पंचनामा कराकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *