मर करके भी स्वर्णाक्षरों में अपना नाम अंकित कर गई काजल : राजेश सिंह राजन हरैया

मर करके भी स्वर्णाक्षरों में अपना नाम अंकित कर गई काजल : राजेश सिंह राजन हरैया

ब्यूरो प्रमुख – एन. अंसारी

कौडीराम, गोरखपुर। काजल मर करके भी अपना नाम स्वर्ण अक्षरों में अंकित कर गई। उस दिन काजल नहीं होती तो उसके पिता की हत्या निश्चित ही हत्यारे कर देते। वह अपने प्राणों की आहुति देकर अपनी मां के मांग का सिंदूर बचा लिया । ऐसी बहादुर बेटी को मेरा शत-शत प्रणाम है। उक्त बातें भारतीय जनता पार्टी के जिला कार्यसमिति सदस्य राजेश सिंह राजन हरैया ने पीड़िता के घर पहुंच कर उसके पिता को सांत्वना देते हुए कही।उन्होंने कहा कि नि:संदेह यह 16 साल की बेटी अपने मां-बाप की इकलौती पुत्री थी लेकिन मरने से पूर्व 10 पुत्रों के बराबर पिता व मां के लिए अपना कार्य करके चली गई। वहीं पिडि़ता के घर पहुंचे करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष वीरू सिंह ने शासन व प्रशासन से अपनी मांग को रखते हुए 48 घंटे की मोहलत देते हुए कहा कि अगर दो दिनों मे अपराधी पुलिस गिरफ्त में नहीं होगा या उचित कार्यवाही नहीं होगी तो 30 अगस्त की संपूर्ण जिम्मेदारी स्थानीय शासन व प्रशासन की होगी। घटनास्थल से ही करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने दूरभाष से पुलिस महानिदेशक उत्तर प्रदेश, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गोरखपुर, पुलिस अधीक्षक ग्रामीण से दूरभाष पर बात करके अपनी मांग रखी। बता दें कि जगदीशपुर भलुआन निवासी राजीव नयन सिंह को गांव के ही रहने वाले शातिर बदमाश विजय प्रजापति ने रुपए के लेनदेन को लेकर घर में घुसकर पिटाई कर रहा था उसके साथ तीन बदमाश और थे । जब राजीव नयन सिंह की बेटी काजल ने इसका विरोध किया और बदमाश नहीं माने तो वह पिता की पिटाई का वीडियो बनाने लगी इस पर शातिर बदमाश विजय ने काजल के पेट में गोली मार दी थी जिसकी लखनऊ में इलाज के दौरान मौत हो गई । भाजपा नेता के साथ सांत्वना देने वालों में भारतीय जनता पार्टी के मंडल मंत्री प्रकाश पांडेय, समाजसेवी यादवेंद्र सिंह उर्फ गुड्डू सिंह ,हेमंत मिश्रा ,भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता हरिनारायण सिंह व अन्य लोग रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.