प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना सप्ताह की जिला पंचायत अध्यक्ष ने फीता काट कर की शुरुआत

ब्यूरो रिपोर्ट – प्रेम कुमार शुक्ल, अमेठी

अमेठी 01 सितंबर 2021 संयुक्त जिला चिकित्सालय परिसर में जिला पंचायत अध्यक्ष राजेश अग्रहरी ने फीता काट कर प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना सप्ताह की शुरुआत की । इस अवसर पर उन्होने कहा कि
केंद्र एवं प्रदेश की सरकार जनता के भलाई के लिए दिन प्रतिदिन विभिन्न योजनाओं का संचालन कर रही हैं। अमेठी सांसद केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी अमेठी के विकास के लिए दिन रात चिंतित रहती हैं आज अमेठी मे स्वास्थ्य व्यवस्था आगे बढ़ी है यह उन्हीं की देन है।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ आशुतोष कुमार दुबे ने बताया कि
प्रधानमंत्री मातृ वंदना को गति प्रदान करने के लिए एक सितंबर से सात सितंबर तक मातृ वंदना सप्ताह चलाया जा रहा है । जिसके तहत पहली बार गर्भधारण करने वाली महिलाओं को लाभ पहुंचाने के लिए जन सामान्य तक योजना का प्रचार प्रसार, स्वास्थ्य पोषण एवं स्वच्छता के प्रति संवेदनशीलता को बढ़ावा दिया जाएगा । । कोविड-19 टीकाकरण के लिए ग्रभवती महिलाओं में जागरूकता लाने के मकसद से मातृ वंदना योजना सप्ताह की शुरुआत की जा रही है। समारोह की थीम मातृ शक्ति राष्ट्र शक्ति के अंतर्गत तमाम तरह के कार्यक्रम चलाए जाएंगे, इस सप्ताह में गर्भवती महिलाओं को उचित आराम एवं पोषण की विषय में उन्हें जागरूक करना, नियमित प्रसवपूर्व देखभाल करना, संस्थागत प्रसव कराना, शिशु टीकाकरण, गर्भवती महिलाओं का कोविड-19 टीकाकरण, गर्भवती महिलाओं को स्वास्थ्य पोषण एवं स्वच्छता से संबंधित गर्भवतीयों को बढ़ावा देना।
जिला कार्यक्रम समन्वयक शिखा पाण्डेय ने बताया कि प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना में गर्भवती महिलाओं को पोषाहार के लिए अलग-अलग तीन किस्तों में 5000 रुपए दिए जाते हैं। अभियान के दौरान महिलाओं को प्रसव के दौरान सावधानी, टीकाकरण, खानपान, साफ-सफाई समेत अन्य जानकारियां दी जाएंगी। 1 सितंबर से 7 सितंबर तक अभियान के दौरान स्वास्थ्यकर्मी घर-घर जाकर गर्भवती महिलाओं की निगरानी कर उन्हें संक्रमण से बचाव की जानकारी देते हुए योजना से लाभान्वित किया जाएगा। कार्यक्रम में अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ  नवीन कुमार मिश्रा, सीएमएस डॉ बी पी अग्रवाल, जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ पीके उपाध्याय मौजूद रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published.