सी एच सी गोला हुआ अधीक्षक बिहीन, चिकित्सको के अभाव में मरीज लगा रहे है इलाज के लिए चक्कर

सी एच सी गोला हुआ अधीक्षक बिहीन, चिकित्सको के अभाव में मरीज लगा रहे है इलाज के लिए चक्कर

  • सी एच सी पर कई बर्षो से  बिशेषज्ञयो का बना है टोटा
  • एक ही फार्मासिस्ट के हवाले बना गोला अस्पताल
  • ओ टी में पड़े मशीन फांक रहे है धूल

गोलाबाजार, गोरखपुर 12 मई।

जनपद के दक्षिणांचल में स्थित तहसील गोला मुख्यालय के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गोला की स्थिति अजीबो गरीब बन चुकी है।अस्पताल पर बिगत कई बर्षो से बिशेषज्ञ का पता नही है ।बर्तमान में यहां पर तैनात अधीक्षक डा योगेंद्र सिंह व स्त्री रोग चिकित्सक डा नीतू चंद्रा का स्थानांनतरण अन्यत्र हो जाने के कारण सीएचसी गोला पर तैनात मात्र एक दन्त चिकित्सक के हवाले बन कर रह गया है। चिलवा स्वास्थ केंद्र पर तैनात चिकित्सक डा  आर पी यादव व स्वास्थ केंद्र नेवाईजपार पर तैनात चिकित्सक डा  राजेश कुमार राहुल व डा  रजनीश राहुल सी एच सी गोला पर आकर ओ पी डी व इलाज की ब्यवस्था देख रहे है ।जिससे इस  सी एच सी  के अंतर्गत आने वाले दोनों स्वास्थ केंद्र मात्र फार्मासिस्ट व वार्ड बॉय के सहारे पर संचालित हो रहे है । दो फार्मासिस्ट की जगह मात्र एक फार्मासिस्ट अस्पताल की ब्यवस्था देख रहे है जिससे काफी कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है।

अस्पताल पर डॉक्टर का टोटा होने के कारण आने वाले  मरीज को समुचित इलाज न मिल पाने के कारण निजी चिकित्सको के यहां जाने को मजबूर होना पड़ रहा है जिससे लोगो मे ब्यवस्था के प्रति भारी असन्तोष ब्याप्त है।

प्राप्त बिबरण के अनुसार सी एच् सी गोला उच्चीकृत स्वास्थ्य केंद्र है ।लेकिन स्थापना काल के कुछ समय बाद से  यहां पर बिशेषज्ञ की बात तो दूर रही चिकित्सको की कमी भी पूरी नही हो पाई।एक्सरे पैथोलॉजी  ओ टी सब मौजूद है ।लेकिन  एक्सरे में रेडियोलॉजिस्ट चिकित्सक नही।पैथोलॉजी है लेकिन पैथोलोजी चिकित्सक नही है ।ओ टी मशीन है लेकिन सर्जन नही है  जिससे मशीन धूल फांक रही है ।जच्चा बच्चा केंद्र है प्रसव की ब्यवस्था है लेकिन शिशु रोग बिशेषज्ञ की नियुक्ति नही है ।प्रसव के बाद किसी बाल रोग बिशेषज्ञ की।आवश्यकता होने पर बाहर के अस्पतालों के शरण लेना पड़ रहा है । सी एच् सी गोला के अंतर्गत तीन स्वास्थ्य केंद्र  पकड़ी नेवाईजपार व  चिलवा आते है। पकड़ी स्वास्थ्य केंद्र पर तैनात  डा अजीज अंसारी जो वर्तमान में सी एच् सी बड़हलगंज से सम्बद्ध हो जाने के कारण स्वास्थ्य केंद्र फार्मासिस्ट व वार्ड बॉय के हवाले हो चला है ।वही चिलवा व नेवाईजपार स्वास्थ केंद्रपर तैनात   चिकित्सक गोला सी एच् सी पर सेवा देने के कारण दोनों स्वास्थ केंद्र चिकित्सक बिहीन पड़े हुए है।गोला सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर मात्र एक फार्मासिस्ट तैनात होने के कारण दवा की ब्यवस्था डवांडोल बन चुकी है । अस्पताल पर प्रतिदिन मरीजो की सँख्या बढ़ती जा रही है लेकिन चिकित्सक का टोटा होने के कारण मरीजो।को सुलभ व सस्ता इलाज नही मिल पा रहा है ।सूबे की सरकार का स्पष्ट मंशा है कि सभी को बेहतर इलाज की ब्यवस्था दी जाय ।इलाज केअभाव में कोई भी मरीज दम न तोड़े।लेकिन धरातल पर सरकार की मंशा  बिफल होती दिख रही है ।इतना ही नही अस्पताल पर मरीज यदि गम्भीर स्थिति में पहुच जाय और उसे जिला अस्पताल भेजने की जरूरत पड़ी तो फोन करने पर 108 एम्बुलेंस समय से उपलब्ध नही हो पाएगी ।अगर मरीज के परिजन को अपने मरीज को बचाना है तो निजी संसाधन से ही जिला अस्पताल पर पहुचना है।यह स्थिति यहां पर बन चुकी है।सी एच् सी पर करोना काल से ही ओक्सीजन प्लांट आकर रखा पड़ा है लेकिन अब तक प्लांट  का शुभारंभ तो दूर स्थापित ही नही हो पाया है । लोगो का कहना है कि सी एच् सी गोला कब तक हाथी का सफेद दाँत बन कर दिखाई देगा। यह यक्ष प्रश्न शासन व प्रशासन के समक्ष खड़ा पड़ा है।

इस प्रकरण पर जब सी एम ओ डा आशुतोष कुमार दुबे  से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि चिकित्सको की कमी है मेरी सज्ञान में है ।जैसे ही चिकित्सक की ब्यवस्था बनी तुंरत हम चिकित्सक भेज देंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *