चक्रवर्ती तूफान बारिश से दर्जनों घर हुई तबाह

  • चक्रवर्ती तूफान बारिश से दर्जनों घर हुई तबाह
  • सैदपुर अमेठी व पहाड़गंज गौरीगंज के गांवों में हुआ करोड़ों का नुकसान
  • सैकड़ों साल पुराने महुआ, आम व जामुन के पेड़ में धराशाई
  • अमेठी ब्लाक के वियसिया स्थित मुर्गी फार्म का उड़ गया स्ट्रक्चर
  • प्रतापगढ़ अमेठी के बॉर्डर गांव में दिखा चक्रवाती तूफान का असर
  • दर्जनों दलितों के आशियाना हुए धराशाई ,घर से बेघर हुए ग्रामीण
  • ग्राम प्रधान यदुनाथ मौर्य पहाड़गंज ने प्रशासन से की मांग पीड़ितों को दिलाया जाए मुआवजा

ब्यूरो रिपोर्ट- प्रेम कुमार शुक्ल, अमेठी
अमेठी। कल शनिवार दोपहर में आए चक्रवाती तूफान और बारिश में दर्जनों आशियाने धराशाई हो गए ।वही सैकड़ों साल पुराने पेड़ टूट कर गिर पड़े ।तूफान से चारों तरफ मायूसी का मंजर ही दिख रहा था।
शनिवार दोपहर 1:30 बजे चक्रवाती तूफान व भारी बारिश हुई। जिसमें अमेठी व प्रतापगढ़ के बॉर्डर के गांव काफी प्रभावित हुए। किसी का आशियाना छिन गया तो किसी की रोजी रोटी । जब संवाददाताओं की टीम ने परीक्षण किया तो देखा कि गौरीगंज के पहाड़गंज व अमेठी ब्लाक के सैदपुर गांव ,वियसिया व बार्डर के दर्जनों गांव प्रभावित दिखे। कहीं-कहीं पर आम ,जामुन व महुआ के पेड़ सड़कों पर गिर पड़े। जिससे काफी समय तक यातायात बाधित रहा। इस चक्रवाती तूफान प्राथमिक विद्यालय पूरे विश्राम गौरीगंज स्थित पानी की टंकी तूफान मे गिर गई ।जिसकी सूचना ग्राम प्रधान पहाड़गंज यदुनाथ मौर्य को दी गई ।जिन्होंने तत्काल विद्यालय की संपत्ति को सुरक्षित कराया तथा पानी की टंकी को यथा स्थान पर रखवाया ।इस भयंकर तूफान में पहाड़गंज के ग्राम प्रधान यदुनाथ मौर्य ने बताया कि गांव की दर्जनों लोगों का घर इस तूफानी बारिश में धराशाई हो गया। चक्रवाती तूफान से गांव के रामकृष्ण विश्वकर्मा, शिव लखन मिश्रा, कामता विश्वकर्मा, भानु सरोज ,साधु सरोज ,रामकुमार ,पुत्ती लाल ,दुलारा सरोज, सूरज गोरी ,मदारी, रामबोध, राकेश कुमार, बागीश शुक्ला ,महेश नारायण शुक्ला सहित अन्य लोग बुरी तरह से प्रभावित हुए ।इनके आशियाने उजड़ गए हैं ।

ग्राम प्रधान पहाड़गंज यदुनाथ मौर्य ने प्रशासन से मांग की है कि अधिकारी गांव का भौतिक सत्यापन करके पीड़ितों को प्राकृतिक आपदा से मिलने वाली सुविधाओं से आच्छादित किया जाए ।जिससे वह अपना जीवन यापन कर सकें। चक्रवाती तूफान से करोड़ों की संपदा बर्बाद हो गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *