महंगाई भत्ता बहाली के बाद कितनी बढ़ जाएगी केंद्रीय कर्मचारियों की सैलरी

1 जुलाई, 2021 से 52 लाख केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता और 60 लाख पेंशनर्स का महंगाई रिलीफ बहाल हो जाएगा. इसके बाद सरकारी कर्मचारियों को अपनी 7वें वेतन आयोग की सैलरी बढ़ने का इंतजार है. हालांकि सरकारी कर्मचारियों को सलाह दी गई है कि वो अपनी बेसिक सैलरी और मौजूदा महंगाई भत्ते के लिए 7वें वेतन आयोग के सैलरी कैलकुलेटर का इस्तेमाल करें.

ऐसे कैलकुलेट होगी बढ़ी हुई सैलरी

शिवा गोपाल मिश्रा, सेक्रेटरी, स्टाफ साइड,  JCM के नेशनल काउंसिल का केंद्रीय कर्मचारियों से कहना है कि जब वो 7वें वेतन आयोग सैलरी कैलकुलेटर का इस्तेमाल करते समय संबंधित पे-मैट्रिक्स को देखें. ये देखने के लिए कि महंगाई भत्ता बहाली के बाद मंथली सैलरी कितनी बढ़ेगी,  केंद्रीय कर्मचारियों को सलाह दी जाती है कि वो 7वें वेतन आयोग के तय किए हुए पे-मैट्रिक्स के आधार पर एक महीने की बेसिक सैलरी को चेक करें.

बेसिक मंथली सैलरी को चेक करने के बाद वो अपना मौजूदा महंगाई भत्ता देखें, जो कि इस वक्त 17 परसेंट है. महंगाई भत्ता की बहाली के बाद ये 28 परसेंट हो जाएगा, यानी 1 जुलाई 2021 से कर्मचारियों को हर महीने महंगाई भत्ता 11 परसेंट ज्यादा मिलेगा. शिवा गोपाल का कहना है कि यही फॉर्मूला पेंशनर्स के महंगाई रिलीफ कैलकुलेशन में भी इस्तेमाल  होगा.

ऐसे कैलकुलेट होगा बढ़ा हुआ महंगाई भत्ता

इसलिए 7वें वेतन आयोग सैलरी कैलकुलेटर को ध्यान में रखते हुए, मान लिया जाए कि किसी केंद्रीय कर्मचारी की मंथली बेसिक सैलरी 20,000 रुपये है. तो उसका मंथली महंगाई भत्ता बढ़कर 28 परसेंट हो जाएगा. 17 परसेंट से 28 परसेंट महंगाई भत्ता बढ़ने का मतलब 11 परसेंट की बढ़ोतरी. 20,000 का 11 परसेंट हुआ 2200 रुपये. मतलब अभी जितना महंगाई भत्ता उनको मिल रहा है, उसमें 2200 रुपये जोड़ दें तो जुलाई से मिलने वाला मंथली महंगाई भत्ता यही होगा.

इसी तरह बाकी कर्मचारी अपनी बेसिक मंथली सैलरी के हिसाब अपना बढ़ा हुआ महंगाई भत्ता कैलकुलेट कर सकते हैं. और इससे ये भी बता चल जाएगा कि उनकी सैलरी 1 जुलाई से कितनी बढ़कर आएगी.

क्या यात्रा भत्ता भी बढ़ेगा?

सिर्फ महंगाई भत्ता ही नहीं, केंद्रीय कर्मचारियों को यात्रा भत्ता भी बढ़ जाएगा, लेकिन कुछ शर्तों के साथ. क्या महंगाई भत्ता के साथ ही यात्रा भत्ता भी बढ़ जाएगा, इस सवाल पर शिवा गोपाल मिश्रा कहते हैं कि नहीं, महंगाई भत्ता के साथ साथ यात्रा भत्ता तभी बढ़ता है, जब मौजूदा महंगाई भत्ता 25 परसेंट से ज्यादा हो. चूंकि इस वक्त ये 17 परसेंट ही है, इसलिए केंद्रीय कर्मचारियों के लिए यात्रा भत्ता में बढ़ोतरी इस वक्त नहीं होगी. इसलिए जुलाई से बढ़कर मिलने वाला महंगाई भत्ता ही ज्यादा मायने रखता है.

 

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.