परिजनों ने ग्राम पंचायत अधिकारी की लाश को रोड पर रखकर किया जाम

 

  • परिवार जनों ने रखी प्रशासन के सामने पांच मांगे
  • अधिकारियों के समझाने बुझाने पर जाम को किया समाप्त
  • एसएसपी ने घटनास्थल का किया निरीक्षण परिवारजनों से किया वार्ता

ब्यूरो रिपोर्ट – हरेन्द्र कुमार यादव, गोरखपुर

गोरखपुर।गोला थाना क्षेत्र के गोपालपुर चौराहे पर शनिवार दोपहर अज्ञात बाइक सवार बदमाशों ने ग्राम पंचायत अधिकारी अनीश कुमार को चाकू से गोदकर मौत के घाट उतार दिया था। दिनदहाड़े हुई इस हत्या से क्षेत्र मे दहशत फैल गई थी। वही मृतक के बडे भाई ने शासन प्रशासन से पाच मांगें रक्खी हैं। जिसमे से कुछ मांगों को प्रशासन ने मान लिया है और कुछ के लिए शासन को भेज दिया है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार गोला थाना क्षेत्र के उनौली गांव निवासी पूर्व ग्राम प्रधान अनिल के भाई व उरुवा ब्लॉक में तैनात ग्राम पंचायत अधिकारी अनीश चौधरी उर्फ पिंटू (35) पुत्र स्व पुरूषोत्तम अपने गांव के एक व्यक्ति के साथ शनिवार की दोपहर कार से गोपलापुर चौराहे पर स्थित बिल्डिंग मैटेरियल की एक दुकान पर बकाया पैसे का हिसाब करने गए थे। वह दुकान पर हिसाब-किताब कर ही रहे थे कि इस बीच कोई फोन आया और बात करते हुए दुकान के बाहर सड़क पर आ गए। इस बीच उरुवा की तरफ से दो बाइक पर सवार चार बदमाश आए और अनीश पर धारदार हथियार से हमला कर दिए। बाइक चला रहे दोनों बदमाश हेलमेट लगाए थे, जबकि पीछे बैठे हमलावर चेहरा बांधे हुए थे। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार हमलावरों ने धारदार हथियार से अनीश पर ताबड़तोड़ हमला किया। चौराहे पर सरेआम हुई इस वारदात के वक्त कोई उन्हें बचाने की हिम्मत नहीं जुटा पाया। हमलावर ने अनीश के सिर, गले व सीने पर कई वार कर उन्हें मरा समझ कर उरुवा की ओर फरार हो गए। वही मृतक के बडे भाई अनील ने प्रशासन के सामने पाच मांगें रक्खी। परिवार को तत्काल सुरक्षा व्यस्था मुहैय्या कराई जाए, परिवार को तत्काल एक करोड रूपये का आर्थिक सहयोग किया जाए, परिवार के किसी एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाए, जल्द से जल्द सभी मुल्जिमों की गिरफ्तारी की जाए, चौबीस घंटे के अन्दर अगर मुल्जिमों की गिरफ्तारी नही हुई तो पुरा परिवार आत्महत्या करने के लिए बाध्य होगा जिसकी पुरी जिम्मेदारी शासन प्रशासन की होगी।
वही सुत्रो के अनुसार प्रशासन ने मृतक के परिवार वालो की कुछ मांगें मान ली है और कुछ मांगों को शासन को भेज दिया है ।
रविवार को अपनी मांगों को लेकर पीडित परिवार घर पर ही शव को रखकर अपनी मांगों को पूरा कराने के लिए अड गये। वही पुलिस प्रशासन के अघिकारियों द्वारा काफी समझाने के बाद परिजन मृतक का अन्तिम संस्कार करने के लिए राजी हुए जिसके बाद पुलिस प्रशासन ने राहत की सांस ली। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार की घटनास्थल का निरीक्षण कर परिवार जनों से वार्ता कर जानकारी दी थी तहरीर के आधार पर 17 लोगों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है चार लोगों को तत्काल पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए गिरफ्तार कर लिया है और 24 लोगों से पूछताछ पुलिस कर रही है बचे हुए अभियुक्तों को जल्द से जल्द गिरफ्तार कर लेगी इस दौरान एसडीएम गोला राजेन्द्र बहादुर सीओ गोला अंजनी कुमार पांडेय सहित उरूवा बांसगांव गगहा आदि थानों की पुलिस सहित गांव के काफी लोग मौजूद रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.