भलुवान गोलीकांड : एसएसपी ने बदमाशों पर घोषित किया पचास हजार का इनाम

ब्यूरो प्रमुख – एन. अंसारी

अपराधी विजय प्रजापति एवं उसके साथी पर रुपए 25000- 25000 का इनाम घोषित
डाक्टरों के अथक प्रयासों से वावजूद मौत से जंग हार गई काजल
बुधवार देर रात बड़हलगंज मुक्तिपथ पर हुई अंत्येष्टि

काजल के अंतिम दर्शन हेतु उमड़ी भीड़

गोरखपुर । गगहा थाना क्षेत्र के ग्राम जगदीशपुर भलुवान में बीते शुक्रवार को काजल (17) नामक युवती को उसी गांव के बदमाश विजय प्रजापति ने पेट में गोली मार दी थी। पिछले 5 दिनों से केजीएमसी लखनऊ में मौत और जीवन के बीच का संघर्ष करने के बाद काजल की बुधवार सुबह मृत्यु हो गई। डॉक्टर काजल के पेट से गोली निकालने की मशक्कत करते रहे।उसके पेट में गोली फंसे होने की वजह से उसकी हालत दिन पर दिन बिगड़ रही थी। इस दौरान रक्त बहाव भी अधिक हो चुका था।डॉक्टर ने ऑपरेशन कर गोली निकालने की कोशिश की लेकिन ऑपरेशन सफल नहीं हो पाया था।

अंत्येष्टि संपन्न: बुधवार देर रात को काजल का शव उनके पैतृक निवास भलुवान पहुंचा।ऐतिहातन थाना गगहा, गोला, बड़हलगंज, बांसगांव और बेलीपार की पुलिस गांव से लेकर चौराहे तक खड़ी रही।शांति पूर्ण तरीके से काजल का अंतिम संस्कार बड़हलगंज मुक्तिपथ पर संपन्न हुआ।

एसएसपी ने किया अभियुक्तों को जल्द गिरफ्तार करने का दावा:

काजल की मृत्यु होने पर मुकदमे में हत्या की धारा बढ़ाई गई है। अपराधी विजय एवं उसके साथी पर ₹25000 – 25,000 का इनाम घोषित किया गया है।अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु कई शहरों में दबिश दी जा रही है, शीघ्र ही अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा -विपिन टाडा, एसएसपी गोरखपुर

इकलौती संतान थी काजल:

भलुवान निवासी राजीव नयन सिंह बांसगांव दिवानी न्यायालय में चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारी हैं। शादी के काफी समय तक कोई संतान नहीं थी। काफी पूजापाठ के बाद काजल का जन्म हुआ था। परिवार में खुशी का कोई ठिकाना नहीं था। वह पढ़ने लिखने के साथ खेलकूद में भी अच्छी रूचि लेती थी।हत्यारोपित के परिवार से राजीव नयन सिंह से काफी पटती थी। आए दिन आवश्यकता पड़ने पर मदद भी करते रहते थे। विजय प्रजापति की बहन की शादी में बढ़चढ़ कर हिस्सा लिए थे।

मेधावी छात्रा थी काजल: राजीव नयन सिंह की पुत्री काजल आरपीएम स्कूल कौड़ीराम में कक्षा 10 की छात्रा थीं। आरपीएम स्कूल कौड़ीराम के प्रधानाध्यापक राजीव रंजन सिंह ने बताया कि काजल एक होनहार और प्रतिभाशाली छात्रा थीं। खेलकूद और सांस्कृतिक कार्यक्रमों में भी उनकी विशेष रुचि रहती थी।

हिरासत में हैं बदमाश के करीबी:

विजय प्रजापति एवं उसके साथियों को पकड़ने के लिए पुलिस ने विजय के जमानतदार व करीबीयों को हिरासत में लिया है। साथी ही विजय की पत्नी, बहने और ससुराल पक्ष से भी पुलिस पूछताछ कर रही है। हालांकि विजय के मां-बाप फरार हैं। पुलिस विजय के संभावित ठिकानों पर दबिश दे रही है।

आपको बता दें कि विजय प्रजापति अपराधी प्रवृत्ति का व्यक्ति है। विभिन्न थानों में उस पर मुकदमा दर्ज है। कुछ दिन पहले जमानत पर छूटकर बाहर आया था।

रुपये के लेनदेन में किशोरी को मार दी थी गोली: रुपये के लेन-देन को लेकर जगदीशपुर भलुआन निवासी राजीव नयन सिंह को उन्हीं के ग्राम निवासी शातिर बदमाश विजय प्रजापति ने अपने साथियों के साथ पिटाई की। राजीव नयन की बेटी काजल ने मोबाइल से इसका वीडियो बनाया तो बदमाश विजय ने उसे गोली मार दी और मोबाइल लेकर मौके से फरार हो गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *