‘मिशन परिवार विकास अभियान’ को निकला प्रचार वाहन

ब्यूरो रिपोर्ट- अपूर्व अश्वनी शेठ

मिशन परिवार विकास अभियान के तहत बुधवार को सभी प्रखंडों के लिए प्रचार वाहन रवाना हुआ। यह अभियान 25 दिसंबर तक चलना है। डीएम सौरभ जोरवाल, डीडीसी अंशुल कुमार, सिविल सर्जन डा. कुमार वीरेंद्र प्रसाद, अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डा. किशोर कुमार व डीपीएम डा. कुमार मनोज ने इन वाहनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। डीएम ने कहा कि इनके माध्यम से आमजन को मिशन परिवार विकास अभियान के दौरान दी जाने वाली सेवाओं के संबंध में जागरूक किया जाना है। अभियान के तहत संस्थानों में महिला बंध्याकरण एवं पुरुष नसबंदी ऑपरेशन किया जाना है तथा संस्थान एवं समुदाय आधारित गतिविधियों के माध्यम से परिवार नियोजन के अन्य अस्थाई साधनों कॉपर-टी, कंडोम, गर्भनिरोधक इंजेक्शन अंतरा, साप्ताहिक गर्भनिरोधक गोली छाया, इमरजेंसी पिल्स, माला डी का वितरण किया जाएगा। इस दौरान इच्छुक लाभार्थियों को परिवार नियोजन के साधनों में से सही विकल्प को चुनने संबंधी परामर्श भी दिया जाएगा। सिविल सर्जन ने कहा कि प्रत्येक माह की 21 तारीख को ऑपरेशन परिवार नियोजन दिवस का आयोजन किया जाना है तथा प्रत्येक माह की नौ तारीख को प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व दिवस के तहत गर्भवती महिलाएं जो स्थाई या अस्थाई साधनों को अपनाने को इच्छुक हैं, उनका प्री- रजिस्ट्रेशन किया जाएगा। मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डा. किशोर कुमार ने कहा कि परिवार नियोजन साधन मुहैया कराने मात्र से महिलाओं में अनचाहे गर्भधारण को 70 प्रतिशत तक कम किया जा सकता है। मातृत्व मृत्यु दर एवं नवजात मृत्यु दर में क्रमशः 67 एवं 77 प्रतिशत तक की कमी लाई जा सकती है। गर्भावस्था तथा प्रसव संबंधित जटिलता में दो तिहाई तक कमी लाई जा सकती है। डीपीएम डॉ कुमार मनोज ने कहा कि सभी प्रखंडों में एक -एक प्रचार वाहन भेजा जा रहा है जो पांच दिनों तक संचालित होगा। सरकार जनसंख्या स्थिरीकरण के लक्ष्य की प्रतिपूर्ति हेतु परिवार कल्याण कार्यक्रम के माध्यम से कुल प्रजनन दर एवं आपूर्ति मांग को कम करने के साथ ही साथ गर्भनिरोधक प्रचलन दर को बढ़ाने के लिए कृत संकल्पित है। इस मौके पर जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डा. उमेश कुमार वर्मा, जिला संचारी रोग पदाधिकारी डा. रवि रंजन, जिला लेखा प्रबंधक अश्विनी कुमार, जिला एपिडेमोलॉजिस्ट उपेंद्र कुमार चौबे, विश्व स्वास्थ्य संगठन के सर्विलेंस मेडिकल ऑफिसर देवाशीष मजूमदार, रीजनल टीम लीड डा. मन्नू कुमारी, डीपीसी नागेंद्र कुमार केसरी, टीम लीडर डीआरयू रितेश कुमार, केयर के डिस्ट्रिक्ट ऑफिसर फैसिलिटी अलका भारती, यूनिसेफ के एसएमसी कामरान खान, यूएनडीपी प्रतिनिधि अर्शी खान आदि थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *