कोरोना संकट में यूरोपीय यूनियन के द्वारा भारत में ऑक्सीजन और दवाओं की पहुंच रही खेप

नई दिल्ली| यूरोपीय यूनियन की ओर से जारी बयान में कहा गया है, ”आने वाले दिनों में ईयू सदस्य देश अति आवश्यक ऑक्सीजन, दवा और उपकरणों की आपूर्ति भारत को करेगा।” यूरोपीय यूनियन के देश 700 ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर्स, 1 ऑक्सीजन जेनरेटर, 365 वेंटिलेटर्स आयरलैंड से, रेमडेसिवीर के 9000 वाइल्स बेल्जियम से, 80 ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर्स और 75 ऑक्सीजन सिलेंडर रोमानिया से आ रहे हैं। 58 वेंटिलेटर्स लग्जमबर्ग से, पुर्तगाल से 5,503 वाइल रेमडेसिवीर , 20 हजार लीटर ऑक्सीजन हर सप्ताह आएंगे तो स्वीड से 120 वेंटिलेटर आ रहे हैं।

यूरोपीय यूनियन की ओर से कहा गया है, ”भारत में महामारी की मौजूदा स्थिति से निपटने के लिए यह मदद ईयू सदस्यों की ओर से उपलब्ध कराई जा रही है।” यह भी कहा गया है कि आने वाले दिनों में ईयू के दूसरे देश भी मदद करेंगे। फ्रांस और जर्मनी जैसे देशों की ओर से भी मदद की जाएगी। 

क्राइसिस मैनेजमेंट के कमिश्नर जानेज लेनारकिक ने कहा कि ईयू इस घड़ी में भारत की हर मदद को तैयार है। ईयू की ओर से यह मदद ऐसे समय पर आई है जब देश में कोरोना की दूसरी लहर तबाही मचा रही है। पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के आंकड़ों में मामूली गिरावट आई थी। सोमवार को देश में 323,144 नए केस सामने आए थे। इसके साथ ही देश में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 17,636,307 हो गई।

यह लगातार छठा दिन है जब देश में 3 लाख से अधिक केस सामने आए हैं। कई राज्यों में ऑक्सीजन की आपूर्ति और आईसीयू बेड की कमी है। केंद्र सरकार के आंकड़ों के मुताबिक, भारत में 14,556,209 मरीज कोरोना को हरा चुके हैं तो 1 लाख 97 हजार 894 मरीजों की जान जा चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.