ग्राम सभा में फर्जी पंचायत समिति का हुआ गठन।

ब्यूरो रिपोर्ट – प्रेम कुमार शुक्ल, अमेठी

अमेठी -शाहगढ़- मामला ग्राम सभा उलरा का है।ग्राम प्रधान श्रीमती विमला देवी के भूतपूर्व प्रधान पति और पंचायत सचिव संदीप जायसवाल मिलीभगत करके ग्राम सभा में फर्जी समिति गठन करवा दिए है जिसका प्रमाण उन्हीं की आवाज में सबके सामने आया है।दिनांक 31/08/2021 को सुबह 11 बजे से दोपहर 12 बजे तक पंचायत भवन पर खुली बैठक का आयोजन सुनिश्चित करवाया गया था|प्रधान पति और पंचायत सचिव आपस में गोपनीय तरीके से सुबह 8 बजे से गुप्त मीटिंग करके मीटिंग का तीन सदस्यों के साथ कोरम पूरा कर लिया और जब गांव के अन्य नवनिर्वाचित 7 सदस्य सुबह 11 बजे पहुचते है तो प्रधान पति की गाड़ी में बैठकर पंचायत सचिव ग्राम सभा के सदस्यों से कहते है कि तुम लोग जाओ हम दोनों मीटिंग कर लिए और अब आपका कोई काम नहीं है ।पंचायत सचिव संदीप जायसवाल सभी संबंधित दस्तावेज अपने साथ लेकर के प्रधान पति के गाड़ी में बैठ कर विकासखंड की तरफ चले गये।नवनिर्वाचित सदस्यों ने इसकी तत्काल सूचना विकास खंड अधिकारी शाहगढ़, सहायक पंचायत अधिकारी, शाहगढ़ और पंचायत राज अधिकारी अमेठी को भी सूचित किया ।आज दिनांक 1 सितंबर 2021 को नवनिर्वाचित सदस्यों ने स्वयं विकासखंड शाहगढ़ जाकर सहायक पंचायत अधिकारी शाहगढ़ और विकास खंड अधिकारी शाहगढ़ दोनों से मिलकर के अपनी व्यथा सुनाई और ज्ञापन भी दिया।ज्ञापन तो ले लिया गया लेकिन वहां पर उपस्थित प्रधान पति भूतपूर्व प्रधान द्वारा ग्राम सभा के सदस्यों को सहायक पंचायत अधिकारी शाहगढ़ के सामने धमकाने का भी मामला भी सामने आया है।विकासखंड शाहगढ़ के अधिकारी कौन सी कार्यवाही करते हैं यह तो समय ही बताएगा या भूतपूर्व प्रधान का साथ देते हैं या पंचायती राज एक्ट के नियमों का पालन करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *